1
Claim Assistance
  • दावा सहायता संपर्क

  • स्वास्थ्य निशुल्क संपर्क 1800-103-2529

  • 24x7 रोड साइड सहायता 1800-103-5858

  • ग्लोबल ट्रेवल हेल्पलाइन +91-124-6174720

  • विस्तारित वारंटी 1800-209-1021

  • फसल दावा 1800-209-5959

Get In Touch

सेल्स :1800-209-0144 सर्विस चैट :+91 75072 45858

Thank You for Your Interest in Bajaj Allianz Insurance Policy, A Customer Support Excecutive will call you back shortly to assist you through the Process.

Request Call Back

Please enter name
+91
Please enter valid mobile number
Please select valid option
Please select the checkbox

Disclaimer

I hereby authorize Bajaj Allianz General Insurance Co. Ltd. to call me on the contact number made available by me on the website with a specific request to call back at a convenient time. I further declare that, irrespective of my contact number being registered on National Customer Preference Register (NCPR) under either Fully or Partially Blocked category, any call made or SMS sent in response to my request shall not be construed as an Unsolicited Commercial Communication even though the content of the call may be for the purposes of explaining various insurance products and services or solicitation and procurement of insurance business. Furthermore, I understand that these calls will be recorded & monitored for quality & training purposes, and may be made available to me if required.

हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस

कैशलेश इलाज पाएँ 6500 + नेटवर्क अस्पतालों में

इन-हाउस  हेल्थ ऐडमिनिस्ट्रेशन टीम

क्लेम सेटलमेंट बस 60 मिनट में

*आईआरडीएआई द्वारा अनुमोदित बीमा योजना के अनुसार सभी बचत बीमाकर्ता द्वारा प्रदान की जाती हैं। मानक टी एंड सी लागू करें

 

What is Health Insurance

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी क्या है?

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी एक फाइनेंशियल सेफ्टी की तरह है जो आपको अपने मेडिकल खर्चों को संभालने में मदद करती है। हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस एक निवेश की तरह होता है जिसमें आप अपनी मेहनत की कमाई को अस्पताल में भर्ती, दवाइयों, एम्बुलेंस, डॉक्टर के परामर्श और अन्य खर्चों पर बर्बाद होने से बचा सकें। एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी, आपके और आपकी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी के बीच एक समझौते की तरह होता है, जो किसी भी मेडिकल इमरजेंसी में आपको फाइनेंशियल रूप से कवर करता है।

हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस कई प्रकार के होते हैं। और आपको, अपने और अपने परिवार के लिए सबसे बेस्ट हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी चुननी चाहिए ताकि अपने मोटे मेडिकल बिल का भुगतान करते समय आपके पसीने न छूटे। हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस की मदद से आप न केवल अपने मेडिकल खर्चों को संभाल सकते हैं, बल्कि एक बढ़िया नेटवर्क अस्पताल में कैशलेस इलाज और अच्छी क्वालिटी वाले हेल्थकेयर सुविधाओं का भी लाभ उठा सकते हैं। हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस आपके लिए एक ऐसे दोस्त की तरह हैं जो अस्पताल से संबंधित इमरजेंसी के मामले में आपके फाइनेंशियल बोझ को दूर करते हैं।

 

हेल्थ इंश्योरेंस जरूरी क्यों है?

एक असरदार हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी इसलिए जरूरी है क्योंकि दवाओं और अस्पताल के इलाज का खर्च दिन-प्रतिदिन बढ़ता चला जा रहा है। अगर आप किसी तरह की कोई दुर्घटना या गंभीर बीमारी का सामना करते हैं, तो इससे आपके और आपके परिवार पर फाइनेंशियल बोझ बढ़ जाएगा। सच हमेशा थोड़ा कड़वा होता है लेकिन क्या आपने कभी अस्पताल में भर्ती होने के बारे में सोचा है! लेकिन यह हमेशा एक अनचाही घटनाओं के रूप में आपके सामने आता है और जब यह आता है तो खर्चों का बोझ बढ़ जाता है। इसलिए, अपने लिए एक हेल्थ इंश्योरेंस प्लांन रखना हमेशा बेहतर होता है। यह न केवल आपके आर्थिक बोझ को कम करेगा बल्कि सस्ती प्रीमियम दरों पर और भी कई सारे लाभ भी प्रदान करता है। आप अपनी बजट के अनुसार ढेर सारे हेल्थ इंश्योरेंस क्वोट ऑनलाइन देख सकते हैं।

 

आइये यहां हम आपको ऐसे 5 कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे पढ़ने के बाद आपको समझ आएगा कि सच में हेल्थ इंश्योरेंस हमारे लिए कितनी जरूरी है: 

  • ✓   फाइनेंशियल रूप से मदद  :  आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी आपकी जेब पर भारी मेडिकल बिलों के भुगतान के बोझ को कम करेगी। आप अपनी मेहनत से कमाए पैसे को, खुद के मेडिकल केयर पर खर्च करने के बजाय उसे बचाकर अपने जीवन का आनंद उठा सकते हैं और अपने दूसरे जरूरी कामों में लगा सकते हैं। अगर आप प्रीमियम दरों को लेकर सोच रहे हैं, तो घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि यहाँ आपको उचित दर पर बेहतर हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी मिलेगी। यहाँ आपको फैमिली डिस्काउंट जैसी छूट भी मिलती है, जिसके कारण आपको कम भुगतान करना होगा और आपको अपने मेडिकल इंश्योरेंस प्लान के कवरेज को बरकरार रखना आसान होगा।

  • ✓   क्वालिटी मेडिकल केयर : अगर आप नेटवर्क अस्पताल में अपना इलाज कराने का निर्णय लेते हैं तो आप कैशलेस क्लेम और क्वालिटी मेडिकल केयर का लाभ उठा सकते हैं। नेटवर्क अस्पताल, एक ऐसा अस्पताल है जिसका आपकी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी के साथ एक समझौता होता है और यह आपको अपनी जेब से पैसे खर्च किए बिना बेहतर इलाज पाने में सक्षम बनाता है।

  • ✓   टैक्स में बचत : भारत में, अगर आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज के लिए भुगतान करते हैं, तो आयकर अधिनियम की धारा 80D के तहत आपको टैक्स में छूट मिलेगी। अगर आप अपने और अपने प्रियजनों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीदते हैं, और अगर आप और आपके माता-पिता वरिष्ठ नागरिक हैं, तो आप टैक्स में 1 लाख की अधिकतम राशि का लाभ उठा सकते हैं।

  • ✓   व्यापक कवरेज : भारत में हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस आपको न केवल हॉस्पिटलाइजेशन खर्च के लिए कवर करती हैं, बल्कि विभिन्न प्रकार की गंभीर बीमारियों, दुर्घटना से संबंधित, मैटरनिटी, कनसलटेशन, चेक-अप और ऐसे ही अन्य मेडिकल खर्चों के लिए कवर प्रदान करती हैं।

  • ✓   मन की शांति : अगर आप फाइनेंशियल रूप से सुरक्षित हैं, तो अस्पताल में भर्ती होने पर भी आपको थोड़ा कम स्ट्रेस होगा। मेडिकल इंश्योरेंस लेने से आपको मानसिक शांति मिलती है जो तनाव से भरी स्थिति में भी आपको शांत रहने में मदद कर सकती है।

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों द्वारा प्रदान की जाने वाली कई हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस में से आप निश्चित रूप अपने लिए एक बेस्ट हेल्थ इंश्योरेंस प्लान चुन सकते हैं।

 

 

 

 

हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस के प्रकार

 

भारत में, हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना अनिवार्य नहीं है। लेकिन, आज मेडिकल इंश्योरेंस होना बहुत महत्वपूर्ण हो गया है और बहुत से लोग अब हेल्थ इंश्योरेंस में निवेश करने लगे हैं। हालांकि, उनमें से अधिकांश बाजार में उपलब्ध विभिन्न प्रकार की हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज को ठीक से समझ नहीं पाते हैं और संभवत:, वे एक ऐसा प्लान खरीद लेते हैं जो उनकी विशिष्ट जरूरतों को पूरा नहीं कर सकता है।

यहाँ, हम आपको भारत में उपलब्ध विभिन्न प्रकार हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस के बारे में समझाते हैं, ताकि आप यह तय कर सकें कि कौन सा प्लान आपकी आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम होगा: 

 

  • भारत में क्षतिपूर्ति आधारित हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस:

    क्षतिपूर्ति आधारित हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस आपको अस्पताल में भर्ती होने के मामले में, आपके द्वारा किए गए खर्चों की प्रतिपूर्ति करता है या आपके द्वारा चुने गए सम इंश्योर्ड के भीतर कैशलेस क्लेम सेटलमेंट देता है। इन प्लांस को ट्रेडीशनल हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस के रूप में भी जाना जाता है। ये हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस आपको डॉक्टर की फीस, अस्पताल के कमरे के किराए, ओटी (ऑपरेशन थिएटर) के शुल्क, दवाओं और अन्य खर्चों के प्रति कवर करते हैं।

  • भारत में फिक्स्ड बेनिफिट हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस:

    जब आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी का क्लेम करते हैं, तो फिक्स्ड बेनिफिट हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस आपको क्लेम की पूरी राशि का भुगतान करते हैं। ये हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस आमतौर पर दुर्घटना के मामले में मौजूदा बीमारियों, गंभीर बीमारियों और हॉस्पिटलाइजेशन खर्च को कवर करने में सहायक होती हैं।

  • Individual Health Insurance

    इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस :

    यह एक सस्ता हेल्थ इंश्योरेंस प्लान होता है जो मेडिकल बिलों के खिलाफ आपकी रक्षा करता है। एक इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस  पॉलिसी आपको आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक उपचार, डे केयर प्रक्रियाओं के शुल्क, बेरिएट्रिक सर्जरी, अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के खर्च, ऑर्गन डोनर से जुड़े खर्च, रोड एम्बुलेंस खर्चों और रोजाना कैश का लाभ प्रदान करती है।

  • Family Health Insurance

    फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस :

    परिवार के लिए हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस या फैमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस आपको अपने और अपने परिवार को इंडिविजुअल सम इंश्योर्ड (एसआई) से कवर करने का विकल्प देता है। इस प्लान की कुछ प्रमुख विशेषताएं मल्टीपल सम इंश्योर्ड विकल्प, तत्काल फैमिली कवर, आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक इलाज के लिए कवरेज, बेरिएट्रिक सर्जरी कवर, अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद का खर्च, मैटरनिटी और नेओनेटल केयर कवर हैं।

  •  Critical Illness Insurance

    क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस :

    क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस प्लान आपको जीवन को खतरे में डालने वाली बीमारियों जैसे कैंसर, ट्यूमर, स्ट्रोक आदि के लिए उच्च-लागत के इलाज को कवर करता है।. एक क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस कवर का लाभ यह है कि यह आपको एक गंभीर बीमारी का पता चलने के बाद पेएबल लाभ का फायदा उठाने देता है।

  • Critical Illness Insurance for Women

    महिलाओं के लिए क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस :

    यह महिलाओं के लिए क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस  प्लान को विशेष रूप से उनकी जरूरतों को पूरा करने के लिए जैसे कि उन्हें किसी गंभीर बीमारी जैसे स्तन कैंसर, जलन, योनि में दर्द आदि का सामना करना पड़ता है, तो उसे कवर करने के लिए डिजाइन किया गया है।

  • Health Insurance for Senior Citizens

    वरिष्ठ नागरिकों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस :

    जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती जाती है, आपके शरीर में कमजोरी के लक्षण दिखाई देने लगते हैं और आप उम्र से संबंधित समस्याओं से परेशान हो सकते हैं। इसके अलावा, आने वाले समय में आपकी बचत सीमित हो जाती है।  वरिष्ठ नागरिकों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस इन बातों का ध्यान रखता है और आपके सुनहरे वर्षों में आपको मेडिकल खर्चों से बचाता है। 

  • Health Infinity Plan

    हेल्थ इंफिनिटी प्लान :

    बजाज आलियांज द्वारा दिए जाने वाले हेल्थ इंफिनिटी प्लान, में सम इंश्योर्ड की कोई सीमा नहीं है। आपके और आपके परिवार के लिए बेस्ट हेल्थ इंश्योरेंस प्लान!  इस प्लान की प्रमुख विशेषताएं अंलिमिटेड सम इंश्योर्ड, अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के खर्च के लिए कवरेज, डे केयर प्रक्रिया, रोड एम्बुलेंस खर्च और मल्टीपल पॉलिसी टर्म के विकल्प हैं।

  •  Top Up Health Insurance

    टॉप अप हेल्थ इंश्योरेंस :

    टॉप अप हेल्थ इंश्योरेंस प्लान यह सुनिश्चित करते हैं कि भले ही आपके बेस मेडिकल इंश्योरेंस प्लान की बीमित राशि समाप्त हो गई हो, फिर भी आपको कवर किया जाए।बजाज आलियांज में, हम  टॉप अप हेल्थ इंश्योरेंस  प्लांस ऑफर करते हैं, जिसमें आपको मिलेगा एक्सट्रा केयर प्लस और एक्सट्रा केयर } जो आपकी मौजूदा हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को एक ऐड-ऑन कवर प्रदान करते हैं। इस मेडिकल इंश्योरेंस प्लान की प्रमुख विशेषताएं मैटरनिटी खर्च, अस्पताल में भर्ती होने के पहले और बाद के खर्च, पूरे परिवार के लिए फ्लोटर कवर, मौजूदा बीमारियों के लिए कवरेज और डे केयर प्रक्रियाओं के लिए दिए जाने वाले कवरेज हैं।

  • Personal Accident Insurance

    पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस :

    एक पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस अनचाही दुर्घटनाओं के खिलाफ आपको और आपके परिवार की देखभाल करता है।  बजाज आलियांज में, हम आपको पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस पॉलिसी प्रदान करते हैं जिसमें हॉस्पिटल कॉनफिनेमेंट भत्ता, बच्चों की शिक्षा का लाभ और एक व्यापक कवर मौजूद है जो आपको मृत्यु, स्थायी कुल विकलांगता, स्थायी आंशिक विकलांगता, अस्थायी कुल विकलांगता जैसे  पर्सनल गार्ड  जैसे प्लांस के लिए कवर प्रदान करता है। साथ ही, हमारी ग्लोबल पर्सनल गार्ड पॉलिसी आपको दुर्घटनाओं और चोटों के प्रति कवर करती है, चाहे आप दुनिया के किसी भी कोने में हों। हमारे इंटरनेशनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस की प्रमुख विशेषताएं 25 करोड़ रु तक के सम इंश्योर्ड विकल्प, संचयी बोनस और जीवन शैली संशोधन लाभ, पूरे विश्व में कहीं भी पूरे परिवार के लिए कवरेज और 3 साल तक का पॉलिसी पीरियड प्रदान करना है।

  • M Care Health Insurance

    एम केयर हेल्थ इंश्योरेंस

    बजाज आलियांज एम केयर हेल्थ इंश्योरेंस  पॉलिस आपको 7 वेक्टर जनित बीमारियों जैसे डेंगू बुखार, मलेरिया, चिकनगुनिया, जीका वायरस आदि के खिलाफ कवर करती है।ये रोग बहुत आम हैं और इन बीमारियों से जुड़ा मेडिकल इलाज बहुत महंगा होता है। तो, हमारी एम केयर हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ, आप वेक्टर जनित बीमारियों के समय निश्चिंत होकर इलाज करवा सकते हैं और ठीक हो सकते हैं। इस पॉलिसी की प्रमुख विशेषताएं आजीवन रिन्यूअल की सुविधा, 15 दिनों की फ्री लुक पीरियड, मल्टीपल सम इंश्योर्ड के विकल्प और कैशलेस क्लेम सुविधा प्रदान करना है।

  • Hospital Cash

    हॉस्पिटल कैश

    यह बजाज आलियांज द्वारा आपको अनचाहे रूप हॉस्पिटलाइजेशन खर्च से बचाने के लिए पेश किया गया टॉप-अप कैश बेनिफिट प्लान है। यह हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी बहुत सस्ती प्रीमियम दरों पर दैनिक हॉस्पिटल कैश बेनिफिट प्रदान करती है। हमारी हॉस्पिटल कैश पॉलिसी की प्रमुख विशेषताएं मल्टीपल सम इंश्योर्ड विकल्प, आजीवन रिन्यूअल, आयकर अधिनियम की धारा 80D के अनुसार टैक्स में बचत और आईसीयू हॉस्पिटलाइजेशन के मामले में डबल कैश बेनिफिट प्रदान करना है।

  • Arogya Sanjeevani Policy:

    आरोग्य संजीवनी पॉलिसी

    यह एक स्टैंडर्ड हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी है जो हॉस्पिटलाइजेशन के समय आपके ऊपर पड़ने वाले फाइनेंशियल बोझ का ख्याल रखती है। आरोग्य संजीवनी पॉलिसी  की प्रमुख विशेषताओं में इस हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के प्रीमियम का भुगतान किस्त (वार्षिक, अर्धवार्षिक, त्रैमासिक या मासिक) के आधार पर किया जाना है, आयुष और मोतियाबिंद इलाज के लिए कवरेज, आजीवन रिन्यूअल का विकल्प, 5 लाख रु तक का सम इंश्योर्ड और इस पॉलिसी को अपने लिए (व्यक्तिगत) या अपने परिवार के लिए (फैमिली फ्लोटर) खरीदने का विकल्प प्रदान करना है।

  • Comprehensive Health Insurance

    कम्प्रेहैन्सिव हेल्थ इंश्योरेंस :

    बजाज आलियांज हेल्थ केयर सुप्रीम एक कम्प्रेहैन्सिव हेल्थ इंश्योरेंस  पॉलिसी है जो आपको अस्पताल के खर्चों की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए कवर प्रदान करती है। यह हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी व्यापक स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती है और आपको और आपके परिवार को एक व्यापक सुरक्षा प्रदान करती है, ताकि आपको भाग्य के ऊपर कुछ न छोड़ना पड़े। इस हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की प्रमुख विशेषताएं आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक इलाजों के लिए कवरेज, ऑर्गन डोनर से जुड़े खर्चों के लिए कवरेज, डे केयर प्रक्रिया के खर्च का कवरेज, रोड एम्बुलेंस खर्चों के लिए कवरेज और अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के खर्चों के लिए कवरेज प्रदान करना है। 

  • Tax Gain

    टैक्स गेन :

    टैक्स गेन  एक अनोखी फैमिली फ्लोटर हेल्थ पॉलिसी है, जो एक स्मार्ट कदम में आपको दोनों मामले में सर्वश्रेष्ठ बनाती है। इस प्लान की प्रमुख विशेषताएं कैशलेस सुविधा, सह-भुगतान की छूट, वेटिंग पीरियड पर कोई प्रतिबंध नहीं होना, एम्बुलेंस कवर, अस्पताल में भर्ती होने के बाद के खर्च के लिए कवरेज, हर 4 क्लेम-फ्री वर्षों के अंत में हेल्थ चेकअप का लाभ प्रदान करना है। 

  •  Star Package Policy

    स्टार पैकेज पॉलिसी :

    स्टार पैकेज पॉलिसी   एक फैमिली फ्लोटर, कम्प्रेहैन्सिव इंश्योरेंस प्लान है, जो आपको और आपके परिवार को यात्रा और सार्वजनिक देयता के दौरान विभिन्न स्वास्थ्य जोखिमों, शिक्षा अनुदान, घरेलू सामग्री और सामान के प्रति कवर प्रदान करती है।  इसमें पर्सनल एक्सीडेंट को भी कवर किया जाता है। 

  • Health Ensure

    हेल्थ इंश्योर :

     हेल्थ इंश्योर  प्लान एक ऐसा कॉमप्रीहेन्सिव हेल्थकेयर प्लान जिसमें कोई आयु सीमा नहीं है। इसमें डे केयर प्रक्रियाएं, एम्बुलेंस खर्च, ऑर्गन डोनर खर्च और आयुर्वेदिक/होम्योपैथिक आकस्मिक चोटें शामिल हैं। सम इंश्योर्ड रेंज विकल्प 10 लाख रु से 25 लाख रु तक होता है। 

  •  Global Personal Guard

    ग्लोबल पर्सनल गार्ड

    ग्लोबल पर्सनल गार्ड एक  इंटरनेशनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस पॉलिसी है जो दुनिया भर में आंशिक स्थायी विकलांगता या कुल स्थायी विकलांगता, दुर्घटना या मृत्यु के कारण होने वाली अन्य चोटों के खिलाफ व्यापक कवरेज प्रदान करती है। यह विदेश यात्रा करते समय होने वाली दुर्घटनाओं को भी कवर करता है क्योंकि यह एक वैश्विक कवरेज प्रदान करता है।

 

 

 

 

हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस के फायदे

मेडिकल केयर से जुड़ी बढ़ती महंगाई, हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने का एक सबसे बड़ा कारण है। और, उचित हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस में निवेश करने का लाभ यह है कि भले ही यह सामान्य डे केयर प्रक्रियाओं हो या फिर एक निवारक स्वास्थ्य देखभाल जांच हो, इससे आपके अस्पताल के बिलों के भुगतान के मामले में आपको एक मजबूती मिलेगी।

हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस के प्रमुख लाभ निम्नलिखित हैं:

 

  • Cashless Treatment

    कैशलेस इलाज :

    अगर आप इलाज के लिए नेटवर्क अस्पताल जाते हैं, तो आप कैशलेस इलाज का लाभ उठा सकते हैं। इसका मतलब है कि आपको एक क्वालिटी हेल्थ केयर प्राप्त करते समय अपनी जेब से पैसे खर्च नहीं करने पड़ेंगे। इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए बस आपको नेटवर्क अस्पताल में इंश्योरेंस डेस्क को केवल अपने पॉलिसी नंबर बताना होगा। वे आपकी इंश्योरेंस कंपनी से प्रि-ऑथराइजेशन लेटर की व्यवस्था करेंगे और अस्पताल और आपकी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी द्वारा आपके अस्पताल के बिल का निपटान सुचारू रूप कर दिया जाएगा। 

  • Tax Benefits

    टैक्स बेनिफिट्स :

    आप भारत में अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस के प्रीमियम का भुगतान करके टैक्स से जुड़े लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं। चाहे आप अपने या अपने परिवार के लिए हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसियों के लिए भुगतान करते हैं, तो आयकर अधिनियम की धारा 80D के तहत आपको टैक्स में छूट मिलेगी। आप अपने लिए भुगतान किए गए हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम के लिए प्रति वर्ष 25,000 रु तक की छूट का क्लेम कर सकते हैं, और अगर आपकी आयु 60 वर्ष से कम है और आप वरिष्ठ नागरिक हैं तो यह छूट 50,000 रु तक हो जाएगी। 

  • Daily Hospital Cash

    डेली हॉस्पिटल कैश*:

    अगर आपके पास एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी है, तो आप दैनिक हॉस्पिटल कैश का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इसका मतलब यह है कि आपकी इंश्योरेंस कंपनी आपको प्रतिदिन एक निश्चित राशि (सीमित दिनों तक) का भुगतान करेगी, जिसका उपयोग आप अपने परिवार के सदस्य / देखभाल करने वाले के लिए रहने की सही जगह प्राप्त करने के लिए कर सकते हैं। व्यक्तिगत हेल्थ गार्ड, फैमिली फ्लोटर हेल्थ गार्ड और हेल्थ केयर सुप्रीम में उपलब्ध सुविधा

  • Cumulative Bonus

    बढ़ता हुआ बोनस :

    अगर आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को बिना किसी ब्रेक के रिन्यू करते हैं और आपने पहले के वर्ष में कोई क्लेम नहीं किया है, तो आपके सम इंश्योर्ड (एस आई) में पहले वर्ष के लिए 5% बढ़ जाएगी और प्रत्येक सफल क्लेम फ्री पॉलिसी रिन्यूअल के लिए 10% की वृद्धि होगी। हमारे एस आई में यह वृद्धि अधिकतम 50% तक सीमित है। सभी हेल्थ इंश्योरेंस प्रॉडक्ट के लिए उपलब्ध सुविधाएं।

  • Free Health Check-Ups

    फ्री हेल्थ चेकअप :

    वो कहते हैं न कि रोकथाम इलाज से बेहतर है। और, अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ, आप निवारक देखभाल का लाभ उठा सकते हैं। आप मेडिकल बिलों के भुगतान के बारे में चिंता किए बिना नियमित रूप से अपना हेल्थ चेकअप कर सकते हैं। 

  • Life Long Renewability

    जीवन भर की रिन्यूबिलिटी :

    एक बार जब आप अपनी एनुयल हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीद लेते हैं, तो आपको लंबे समय तक हेल्थ इंश्योरेंस का लाभ प्राप्त करने के लिए इसकी समाप्ति से पहले इसे हर साल रिन्यू करना होगा। आप अपने परिवार के सदस्यों की संख्या के अनुसार कुछ जरूरतों को और रिन्यूअल के समय कवरेज की जरूरतों को इसमें जोड़ सकते हैं। 

 

 

हमारे हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस कोरोनावायरस को कवर करते हैं

कोरोनावायरस बहुत ज्यादा संक्रामक है और इस कारण यह तेजी से पूरी दुनिया में फैल चुका है। यह बीमारी गंभीर समस्याएं पैदा कर सकती है जिसके लिए व्यापक और लगातार इलाज की जरूरत पड़ती है और यह आपके ऊपर एक फाइनेंशियल बोझ डालता है। जबकि सावधानी बरतना बेहद जरूरी है, लेकिन सहायता का दूसरा रूप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना होगा। हमारे प्लांस द्वारा पेश किए गए व्यापक कवरेज के साथ, आप यह जानकर निश्चिंत हो सकते हैं कि इसमें कोविड-19 से संबंधित मेडिकल खर्च को भी कवर किया गया है। हमारे हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस अस्पताल में भर्ती होने, डे केयर प्रक्रियाओं, आयुष उपचार, ऐम्बुलेंस के खर्च के साथ-साथ क्लेम का तुरंत सेटलमेंट करते हैं। इस महामारी में आप खुद को, अपने परिवार के सदस्यों, बच्चों, वरिष्ठ नागरिकों और गर्भवती स्त्रियों की सेहत के प्रति सजग हैं, यह सुनिश्चित करने के लिए एक उचित पॉलिसी का चयन करें। हम कोरोना कवच पॉलिसी के रूप में एक समर्पित कवर भी प्रदान करते हैं। सामान्य समावेशन के अलावा, यह पॉलिसी नियम और शर्तों के अनुसार, कोरोनावायरस एक अंतर्गत आने वाली मौजूदा बीमारियों, कोमोर्बिड स्थितियों, घर की देखभाल और अन्य खर्चों के लिए भी कवरेज प्रदान करती है। 

यहां बजाज आलियांज द्वारा पेश किए जाने वाले कुछ ऐसे प्लांस के बारे बताया जा रहा है जो कोरोनावायरस को कवर करते हैं: 

  • बजाज आलियांज इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस
  • बजाज आलियांज फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस
  • बजाज आलियांज सिल्वर हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस
  • आरोग्य संजीवनी पॉलिसी
  • कोरोना कवच पॉलिसी

 

आपको बजाज आलियांज से ही हेल्थ इंश्योरेंस क्यों खरीदना चाहिए?

जब मेडिकल इंश्योरेंस की बात आती है, तो बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस भारत में सस्ते हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस की एक विविध श्रेणी के साथ सबसे ऊपर आता है। इन्हें आपके बचत के पैसों को अस्पताल के बिल से बचाने के लिए ही कस्टमाइज़ किया गया है। हम आपके समय और पैसे का सम्मान करते हैं और हमारे ऑफर आपके प्रति हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं। दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं आपको एकाएक घबराहट में डाल सकती हैं, इसलिए अपनी मेहनत की कमाई को ढेर सारे मेडिकल बिलों पर खर्च करने से बचाना बहुत महत्वपूर्ण है। हम इस बात को अच्छे से समझते हैं और इसलिए, हम आपको हमारे हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस के साथ निम्नलिखित लाभ प्रदान करते हैं:

  • देश भर में 6,500+ अस्पतालों में कैशलेस क्लेम की सुविधा
  • बस 60 मिनट में क्लेम का सेटलमेंट
  • क्लेम सेटलमेंट के लिए और हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़े आपके सभी सवालों का जवाब देने के लिए हम 24*7 कॉल सहायता के लिए उपलब्ध हैं।
  • तेजी से क्लेम प्रोसेसिंग के लिए इन-हाउस टीम (एच ए टी)
  • सस्ती दरों पर अधिकतम कवरेज
  • ऑनलाइन इंश्योरेंस पॉलिसी, खरीदने/रिन्यूअल करने में बेहद आसान
  • हमारे ऐप हेल्थ सीडीसी (क्लेम बाय डायरेक्ट क्लिक) के माध्यम से 20,000 रु तक क्विक क्लेम सेटलमेंट
  • देशभर में नेटवर्क अस्पतालों की हमारी विस्तृत श्रृंखला के साथ बेहतर मेडिकल केयर की सुविधा 

बजाज आलियांज से ही हेल्थ इंश्योरेंस क्यों खरीदना चाहिए?

 

Why Buy Health Insurance With Us

 

हम एक ऐसे हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर हैं जिसे अपनी सर्विस के लिए कई पुरस्कार प्राप्त हुए हैं और हमारी प्रतिष्ठा आपके कीमती समय और कड़ी मेहनत से अर्जित धन की सुरक्षा करने में है। हम आपकी देखभाल करते हैं और सुनिश्चित करते हैं कि हमारी औसत क्लेम सेटलमेंट अवधि लगभग 1 घंटे है। 60 मिनट की यह अवधि, हेल्थ इंश्योरेंस इंडस्ट्री में सबसे तेज क्लेम सेटलमेंट की अवधि में से एक है।  इसके अलावा, हमारी प्रीमियम दरें बहुत प्रतिस्पर्धी हैं और हमारी सभी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज ​​नवीनतम सुविधाओं और बेहतरीन कवरेज से भरी हुई हैं। हम यह सुनिश्चित करने के लिए दृढ़ हैं कि आपको हर स्तर पर अपने पैसे का सही मूल्य प्राप्त हो और इस प्रकार, हम आपके लिए अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के खरीदने और उसके रिन्यूअल के साथ-साथ क्लेम सेटलमेंट के मामले में हर कदम पर मौजूद हैं।

 

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने से पहले ध्यान रखी जाने वाली कुछ जरूरी बातें

आजकल इतने सारे उपलब्ध हेल्थ प्लांस और कवर के कारण अपने लिए सही और उचित इंश्योरेंस खरीदते समय उलझन में पड़ जाते हैं। लेकिन, आपको एक मेडिकल इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने से पहले उन सभी जानकारियों की आवश्यकता होती है जो आपकी जरूरतों के अनुरूप हों।


वेटिंग पीरियड, क्लेम सेटलमेंट प्रोसेस, नेटवर्क हॉस्पिटल्स की लिस्ट जैसी कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखें और इससे आप अपने और अपने परिवार के लिए बेस्ट हेल्थ इंश्योरेंस प्लान चुन सकते हैं। अपने जीवन को आसान बनाने के लिए, हमने उन जरूरी तथ्यों की एक छोटी लिस्ट बनाई है, जो आपके लिए सबसे अच्छा हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेने में मदद करेंगे: 

आपके लिए जरूरी तथ्यों की लिस्ट:

 

  • ✓   हमेशा पर्याप्त कवर का विकल्प चुनें और सुनिश्चित करें कि यह आपके और आपके पूरे परिवार के लिए पर्याप्त है।
  • ✓   आजकल, अधिकांश कर्मचारी अपनी कंपनी के मेडिकल इंश्योरेंस से कवर हैं। हालांकि, सभी नियमों और शर्तों को जानने के बाद अपने लिए मेडिकल इंश्योरेंस प्लान का चयन करना और उसे खरीदना हमेशा एक एक्सट्रा लाभ देता है।
  • ✓   नॉन-पेएबल नुकसान के लिए कुछ प्रकार के मुआवजे का लाभ उठाने के लिए अपने बेस कवर में हॉस्पिटल कैश, गंभीर बीमारी और अन्य लाभों को एक साथ करना सही होगा।
  • ✓    हमेशा अपने इंश्योरर को अपनी पहले से मौजूद बीमारियों के बारे में जरूर बताएं
  • ✓    हमेशा कवर, मैक्सिमम लिमिट और वेटिंग पीरियड का ध्यान रखें।
  • ✓    सुनिश्चित करें कि आप हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़ी शर्तों जैसे कि डिडक्टेबल, कम्युलेटिव बोनस, वेटिंग पीरियड, पहले से मौजूद बीमारी, फ्री लुक पीरियड आदि के बारे में अच्छे से जानते हैं। 
  • ✓    मेडिकल खर्च की लागत में लगातार वृद्धि होती है, इसलिए ज्यादा सम इंश्योर्ड हमेशा बेहतर होता है।
  • ✓    इंश्योरेंस प्रोवाइडर के क्लेम सेटलमेंट रिकॉर्ड की जांच करना जरूरी है। आपको हमेशा सेटलमेंट का अच्छा रिकॉर्ड रखने वाली कंपनी का विकल्प चुनना चाहिए। इससे आपको यह तय करने में मदद मिलती है कि आपके क्लेम को गलत तरीके से रोका नहीं जाएगा और यह भविष्य में क्लेम से जुड़े किसी अनावश्यक समस्याओं से आपकी रक्षा करेगा।
  • ✓    अपनी पॉलिसी को नियमित आधार पर रिन्यू करें। यदि एक्स्पायरी और रिन्यूअल के बीच एक ब्रेक है, तो आप इंश्योरेंस से मिलने वाले लाभों को खो सकते हैं। 
  • ✓    एक ऐसा इंश्योरेंस प्रोवाइडर चुनें जिसके पास क्लेम और सेटलमेंट की प्रक्रिया में आपकी सहायता करने के लिए एक इन-हाउस टीम मौजूद है, क्योंकि वे एक बेहतर टर्नअराउंड टाइम और सहज प्रक्रिया प्रदान करते हैं।
  • ✓    एक ऐसी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी चुनें जो इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी की अनुमति देती है। इस तरह से आपको अपनी इंश्योरेंस कंपनी को बदलने और अपने वर्तमान से बेहतर मेडिकल इंश्योरेंस पॉलिसी चुनने का लाभ मिलेगा। 
  • ✓    आपको एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में जल्द से जल्द निवेश करना चाहिए, ताकि आप कम प्रीमियम राशि के साथ अपना हेल्थ इंश्योरेंस कवर शुरू करें और जब आप रिटायर होने वाले हों तो हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीदते समय इसकी तुलना में व्यापक कवरेज प्राप्त करें। 
  • ✓   आपको ऐसी कंपनी से हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने का विकल्प चुनना चाहिए, जिसका ज्यादा से ज्यादा अस्पतालों के साथ टाई-अप हो, ताकि आपको कैशलेस क्लेम का लाभ मिल सके। 
  • ✓    आप एक ऐसी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी का चयन करें, जिसमें आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने/रिन्यूअल की प्रक्रिया के साथ-साथ आसान, त्वरित और सुविधाजनक क्लेम करने के लिए कस्टमर-कस्टमाइज्ड ऑनलाइन सेटअप मौजूद हो। 

आशा है कि इन तथ्यों की मदद से आपको एक बेहतर निर्णय लेने में मदद मिलेगी और आपको और आपके परिवार के लिए सबसे अच्छा हेल्थ इंश्योरेंस प्लान चुनने में मदद मिलेगी। 

 

हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज

  • In Patient Hospitalization

    इन पेशंट हॉस्पिटलाइजेशन

    हमारी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज आपको किसी भी बीमारी, दुर्घटना और चोट के लिए अस्पताल में भर्ती होने पर मेडिकल इलाज से संबंधित खर्चों के प्रति कवर करती हैं। 

  • Pre & Post Hospitalization expenses

    अस्पताल में भर्ती होने के पहले और बाद का खर्च

    आप अस्पताल में भर्ती होने के पहले और बाद के खर्चों के प्रति क्रमशः 60 दिन और 90 दिनों के लिए कवर हैं, बशर्ते कि ये खर्च उस से इलाज संबंधित हैं जो आपको यहाँ से दिया जा रहा है। 

  • Organ donor expenses

    ऑर्गन डोनर खर्च

    किसी के जीवन को बचाने के लिए अंग दान करना एक नेक काम है और हम बजाज आलियांज में आपको इस कार्य में आपकी मदद करने के लिए हर संभव प्रयास करते हैं। हमारे अधिकांश हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस ऑर्गन डोनर से संबंधित सर्जरी/मेडिकल प्रक्रियाओं के लिए आपको फाइनेंशियल रूप से कवर करते हैं। 

  • Day care procedures

    डे केयर प्रक्रियाएं

    टेक्नोलॉजी में प्रगति के साथ, आपको मामूली मेडिकल प्रक्रियाओं उर्फ ​​डे केयर प्रक्रियाओं के लिए 24 घंटे से अधिक अस्पताल में रहने की जरूरत नहीं होती है।  और, हमारी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज आपको इन इलाजों के लिए भी कवर प्रदान करती हैं।

  • Ambulance Charges

    ऐम्बुलेंस खर्च

    बजाज आलियांज में, हम आपको एम्बुलेंस फीस के लिए कवर प्रदान करते हैं जो अस्पताल में जाने या अस्पताल से लौटने पर हो सकता है।

  • Convalescence Benefit

    कॉन्वॉलसेंस बेनिफिट

    बजाज आलियांज की स्वास्थ्य हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसियों के साथ, आप 10 दिनों या उससे अधिक समय के लिए निरंतर अस्पताल में भर्ती होने पर, सालाना 5,000 रुपये के लाभ भुगतान के लिए पात्र होंगे।

  • Ayurvedic / Homeopathic expenses

    आयुर्वेदिक / होम्योपैथिक खर्च

    हम आपको आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक इलाज से संबंधित खर्चों के प्रति कवर प्रदान करते हैं जिन्हें आप वैकल्पिक मेडिकल इलाज के रूप में लेना चाहते हैं।

  • Maternity expenses and new born baby cover

    मैटरनिटी खर्च और नवजात शिशु का कवर

    हमारे हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस कुछ नियमों और शर्तों के अधीन आपको मैटरनिटी खर्च और नवजात शिशु के इलाज के लिए होने वाले मेडिकल खर्चों के लिए कवर प्रदान करती हैं। 

  • Daily Cash Benefit

    डेली कैश बेनिफिट

    आप हमारी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसियों के साथ डेली कैश बेनिफिट का लाभ उठा सकते हैं, जिसका उपयोग आप अस्पताल में आपके साथ आए व्यक्ति के रहने की जगह के लिए कर सकते हैं।

जबकि यह आपको हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज का विचार दे सकता है, आपको हमेशा हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों की जांच करनी चाहिए, ताकि हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज के प्रकारों के बारे में अधिक जानकारी मिल सके। इसके अलावा, समावेशन और बहिष्करण की विस्तृत सूची से बचने के लिए,   हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की शब्दावलियों  को ध्यान से पढ़ें।

 

ऐक्सक्लूज़न

 

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के सामान्य निष्कर्ष कुछ इस प्रकार हैं:

 

  • युद्ध:

    युद्ध के कारण होने वाले इलाज के खर्चों के लिए किए गए क्लेम के मामले में हमारी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज आपको कोई कवर प्रदान नहीं करती हैं।

  • डेंटल ट्रीटमेंट:

    आपको दाँत से जुड़े किसी तरह के इलाज के लिए कवर प्रदान नहीं करती हैं, जब तक कि यह एक गंभीर दर्दनाक चोट या कैंसर से पीड़ित न हो।

  • बाहरी उपकरण/यंत्र:

    चश्मा, कॉन्टैक्ट लेंस, हियरिंग एड्स, बैसाखी, कृत्रिम अंग, डेन्चर, कृत्रिम दांत आदि के खर्च को भी हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस द्वारा प्रदान किए गए कवरेज से बाहर रखा गया है।

  • जानबूझकर खुद को चोट पहुंचाना:

    आपकी देखभाल करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है और हम आपको स्वयं को चोट पहुंचाने के कारण विशेष रूप से आहत होता नहीं देखना चाहते हैं। हमारे हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस आपको जानबूझकर खुद को चोट पहुंचाने के लिए कवर प्रदान नहीं करते हैं।

  • प्लास्टिक सर्जरी:

    किसी भी प्रकार की कॉस्मेटिक सर्जरी जब तक कि कैंसर, जलने या शरीर पर लगाने वाली आकस्मिक चोट के इलाज के लिए जरूरी नहीं है, तब तक हमारी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसियों में इन सभी को कवरेज से बाहर रखा गया है।

  • भारत के बाहर इलाज:

    हमारी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज आपको ऐसे किसी भी प्रकार के इलाज के लिए कवर प्रदान नहीं करती हैं जो भारत के बाहर हुआ है। 

एक उचित हेल्थ इंश्योरेंस कवर कैसे चुनें?

आपकी आवश्यकता उपयुक्त हेल्थ इंश्योरेंस उपयोगी हेल्थ इंश्योरेंस फीचर
वरिष्ठ नागरिकों के लिए कवरेज बजाज आलियांज सिल्वर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान पहले से मौजूद बीमारियों के लिए कवर
एक ही प्लान में पूरे परिवार के लिए कवरेज बजाज आलियांज हेल्थ इन्फिनिटी प्लान, इंडिविजुअल हेल्थ गार्ड और हेल्थ केयर सुप्रीम अनलिमिटेड सम इंश्योर्ड
गंभीर बीमारियाँ के प्रति कवरेज बजाज आलियांज क्रिटिकल इलनेस प्लांस 100% पेआउट
कोरोनावायरस महामारी के लिए कवरेज आरोग्य संजीवनी पॉलिसी और दूसरे हेल्थ प्रॉडक्ट में उल्लिखित हेल्थ इन्डेम्निटी क्लॉज़ किश्त के आधार पर प्रीमियम का भुगतान
महिलाओं के लिए खास गंभीर बीमारियों के लिए कवरेज महिलाओं के लिए बजाज आलियांज क्रिटिकल इलनेस प्लांस जन्मजात विकलांगता का लाभ
शारीरिक चोट या दुर्घटना से मृत्यु के खिलाफ कवरेज बजाज आलियांज पर्सनल गार्ड बाल शिक्षा लाभ
शारीरिक चोट या दुर्घटना से मृत्यु के खिलाफ कवरेज बजाज आलियांज पर्सनल गार्ड बाल शिक्षा लाभ
वेक्टर जनित रोगों के खिलाफ कवरेज बजाज आलियांज एम केयर हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस कैशलेस सुविधा के साथ सभी के लिए कवरेज 

हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम

हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम वह राशि है जो आप अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर को देते हैं ताकि आपको मेडिकल इमरजेंसी के मामले में एक सुनियोजित फाइनेंशियल मदद मिल सके। दूसरे शब्दों में, हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम आवधिक (आम तौर पर वार्षिक) भुगतान है जो आप अपने हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी को भुगतान करते हैं ताकि स्वाथ्य से जुड़े खर्च के लिए उनकी सेवाओं का लाभ उठाया जा सके। विभिन्न हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज में उनके द्वारा प्रदान किये गए कवर के आधार पर अलग-अलग हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम होते हैं। हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम उन प्रमुख कारकों में से एक है जिनपर आपको किसी भी हेल्थ इंश्योरेंस प्लान को खरीदने से पहले विचार करना चाहिए। आपको अपने हेल्थ इंश्योरेंस के लिए कितना प्रीमियम का भुगतान करना पड़ेगा इसे जानने के लिए आप बजाज आलियांज के फ्री हेल्थ इंश्योरेंस कैलकुलेटर की मदद से आसानी से अपने हेल्थ इंश्योरेंस क्वोट या प्रीमियम का अनुमान लगा सकते हैं। 

आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम को प्रभावित करने वाले कारक

आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के प्रीमियम को निर्धारित करने वाले कुछ कारक नीचे दिए जा रहे हैं:

  • ✓   सिलैक्टेड सम इंश्योर्ड : आपकी हेल्थ इंश्योरेंस जरूरतों के आधार पर आपका हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम, आपके द्वारा चुने गए कवर और आपके द्वारा चयनित सम इंश्योर्ड पर भी निर्भर करता है।

  • ✓   कवर किए गए सदस्यों की संख्या : जब आप अपने फैमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान में बीमित सदस्यों की संख्या बढ़ाते हैं, तो आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम में बदलाव होता है।

  • ✓   आयु: युवा, वृद्ध लोगों की तुलना में अधिक स्वस्थ होते हैं और उनसे जुड़े जोखिम कम होते हैं। इसलिए अगर आप युवा होने पर हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते हैं, तो प्रीमियम कम होता है।

  • ✓   बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई)  : आपका बीएमआई आपकी ऊंचाई और वजन का अनुपात है। अगर आपका बीएमआई सामान्य सीमा से भिन्न है, तो आपको ज्यादा हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान करना पड़ सकता है।

  • ✓   मेडिकल हिस्ट्री : अगर आपके परिवार में पहले से कोई बीमारी चल रही है या आपकी मेडिकल हिस्ट्री थोड़ी जटिल है, तो आपको अधिक प्रीमियम देना पड़ सकता है।

  • ✓  तंबाकू का सेवन : अगर आप धूम्रपान करते हैं या तंबाकू और तंबाकू से संबंधित उत्पादों को चबाते हैं तो आपकी प्रीमियम लागत अधिक हो सकती है।

  • ✓   लिंग: महिलाओं को पुरुषों की तुलना में अधिक प्रीमियम का भुगतान करने की आवश्यकता हो सकती है क्योंकि वे अपेक्षाकृत ज्यादा बार अस्पताल जाती हैं।

आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी प्रीमियम पर सबसे बड़ा प्रभाव, इसके साथ आने वाले हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज पर पड़ता है। कवरेज जितना व्यापक होगा, आपके हेल्थ इंश्योरेंस क्वोट उतने ही अधिक होंगे।

 

अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम को ऑनलाइन कैलकुलेट करने के कुछ जरूरी स्टेप्स

 

आप हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम की अनुमानित राशि का पता लगाने के लिए बजाज आलियांज के फ्री हेल्थ इंश्योरेंस कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं, जिसे आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए भुगतान करना होगा। ऑनलाइन आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम को तुरंत कैलकुलेट करने के कुछ जरूरी स्टेप्स नीचे दिए जा रहे हैं: 

  • स्टेप 2 : अपना व्यक्तिगत विवरण जैसे कि अपना नाम, अपनी जन्मतिथि, हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी जिसे आप खरीदना चाहते हैं और परिवार के अन्य सदस्यों का विवरण, जिन्हें आप चयनित हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के अंतर्गत कवर करना चाहते हैं, अपना पिन कोड, कांटैक्ट नंबर दर्ज करें।

  • स्टेप 3 : गेट माय कोट बटन पर क्लिक करें।

  • स्टेप 4 : आपका हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम विवरण स्क्रीन पर दिखाया जाएगा, जहां आप अपनी सुविधा के अनुसार सह-भुगतान का चयन कर सकते हैं और हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी ऑनलाइन खरीदने के लिए कन्फर्म प्लान बटन पर क्लिक कर सकते हैं।

अपना हेल्थ इंश्योरेंस क्वोट प्राप्त करने के बाद आप अपने प्रीमियम का ऑनलाइन भुगतान करते हैं, तो आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी (सॉफ्टकॉपी) तुरंत मिल जाएगी।

हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम की प्रक्रिया

 

आप या तो कैशलेस क्लेम सेटलमेंट या रीइंबर्समेंट क्लेम सेटलमेंट की प्रक्रिया द्वारा अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर के साथ अपने  हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम  को सेटल कर सकते हैं। आपके हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम के सेटलमेंट के दोनों तरीके आसान, त्वरित और सुविधाजनक हैं।

 

  • कैशलेस हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट:

    आप अपनी जेब से कुछ भी खर्च किए बगैर अपने स्वास्थ्य से संबंधित समस्याओं के लिए इलाज प्राप्त कर सकते हैं। अगर आप नेटवर्क अस्पताल में भर्ती हैं, तो आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ कैशलेस क्लेम का लाभ उठा सकते हैं। आपका मेडिकल बिल आपके नेटवर्क अस्पताल और आपके हेल्थ इंश्योरर द्वारा आपकी पॉलिसी में उल्लिखित नियमों और शर्तों के अनुसार सेटल किया जाएगा। भारत में अधिकांश हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियां एक हेल्थ कार्ड प्रदान करती हैं जिसका उपयोग नेटवर्क अस्पताल में कैशलेस इलाज के लिए किया जा सकता है। 

  • रीइंबर्समेंट हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट :

    अगर आप अपनी बीमारी का इलाज एक नॉन-नेटवर्क अस्पताल में  करवाते हैं या अगर आपका पसंदीदा अस्पताल नेटवर्क अस्पताल नहीं है, तो आप एक रीइंबर्समेंट हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम कर सकते हैं। हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम को रजिस्टर्ड करने के लिए, आपको अपने अस्पताल के बिल और प्राप्त इलाज से संबंधित मेडिकल रिकॉर्ड को अपने हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी में जमा करना होगा। इन दस्तावेजों के वेरिफिकेशन के बाद, क्लेम की राशि आपके रजिस्टर्ड बैंक खाते में आ जाएगी।

  • प्लांड हॉस्पिटलाइजेशन :

    अगर आपको मोतियाबिंद सर्जरी जैसी एक नियोजित मेडिकल प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है, जो आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में शामिल है, तो आप कुछ भी भुगतान किए बिना सर्जरी करवाने के लिए कैशलेस क्लेम सुविधा का उपयोग कर सकते हैं। आपको केवल नेटवर्क अस्पताल में एक प्री-ऑथराइजेशन फॉर्म भरना होगा और वे इस फॉर्म को आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर को भेजेंगे। इसके बाद प्रोवाइडर आवश्यक विवरणों को वेरिफाई करेंगे और कैशलेस इलाज की मंजूरी देंगे। 

  • इमरजेंसी हॉस्पिटलाइजेशन:

    दुर्घटना जैसी आपात स्थिति में, आप अपने हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी द्वारा प्रदान किए गए अपने हेल्थ कार्ड का उपयोग कर सकते हैं और इसे प्री-ऑथराइजेशन लेटर के साथ जमा कर सकते हैं। इसका अप्रूवल आने के बाद आप कैशलेस क्लेम का लाभ उठा सकते हैं। अगर अप्रूवल नहीं आता है, तो आप रीइंबर्समेंट हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट प्रोसेस के लिए जा सकते हैं।

  • हेल्थ सीडीसी :

    हेल्थ सीडीसी (क्लेम बाई डायरेक्ट सेटलमेंट), आपके हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम सेटलमेंट के लिए बजाज आलियांज द्वारा  प्रदान की गई एक सुविधा है। आप हमारे मोबाइल ऐप - कैरिंगली योर्स का उपयोग करके तुरंत 20,000 तक का क्लेम पा सकते हैं।

 

नेटवर्क अस्पताल क्या हैं?

 

नेटवर्क अस्पताल एक ऐसा अस्पताल है जिसका आपकी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी के साथ एक कांट्रैक्ट होता है। अस्पताल और आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर के बीच होने वाला यह टाई-अप आपको कैशलेस हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम का लाभ उठाने की अनुमति देता है। आप बजाज आलियांज के  नेटवर्क अस्पतालों की लिस्ट ऑनलाइन देख सकते हैं।.  आप अस्पताल या उस शहर का नाम दर्ज करके हमारी वेबसाइट पर आप वह नेटवर्क अस्पताल सर्च कर सकते हैं जहाँ आप मेडिकल इलाज प्राप्त करना चाहते हैं। एक बार जब आप अपने सर्च क्राइटेरिया दर्ज करते हैं, तो आपको Find Hospital बटन पर क्लिक करना होगा। आपको अपने सर्च क्राइटेरिया द्वारा परिभाषित नेटवर्क अस्पतालों की एक लिस्ट दिखाई जाएगी। 

आपके या आपके परिवार के सदस्यों के इलाज के लिए एक नेटवर्क अस्पताल चुनने के लाभ कुछ इस प्रकार हैं :

  • आपको कैशलेस हेल्थ इंश्योरेंस का लाभ मिलता है, जिससे आपको इलाज के लिए भुगतान नहीं करना पड़ता है।
  • आपको अच्छी तरह से प्रशिक्षित डॉक्टरों, लेटेस्ट मेडिकल ईक्विपमेंट और बेस्ट हॉस्पिटलिटी के साथ सबसे बेहतर इलाज का आश्वासन मिलता है। 
  • आप निश्चिंत रूप से अपना इलाज करवा सकते हैं क्योंकि आपके मेडिकल बिल के भुगतान का ध्यान, आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर द्वारा रखा जाएगा। 
  • आपको अस्पताल में भर्ती होने के साथ-साथ भर्ती होने से पहले और बाद में जरूरी सुरक्षा मिल जाती है।

हेल्थ इंश्योरेंस के टैक्स बेनिफिट्स

 

भारत में, अगर आप अपने और/या अपने परिवार के सदस्यों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान करते हैं, तो आप आयकर अधिनियम की धारा 80D के तहत टैक्स से जुड़े कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं।  आपको मानसिक शांति प्रदान करने के साथ-साथ, मेडिकल इमरजेंसी के दौरान फाइनेंशियल सहायता, क्वालिटी हेल्थ केयर सर्विस, आसान, त्वरित और परेशानी मुक्त क्लेम सेटलमेंट प्रक्रिया के साथ-साथ आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी आपको टैक्स बचाने में भी मदद करती है। इस प्रकार, आप एक उपयुक्त हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में निवेश करके ढेर सारा बचत कर सकते हैं।

एक इंश्योरेंस पॉलिसी आपको आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80D के तहत भुगतान किए गए प्रीमियम पर 1 लाख रु तक कर बचाने में मदद कर सकती है। यहां बताया गया है कि आप 80D डिडक्शन के अनुसार कर लाभ कैसे प्राप्त कर सकते हैं।

 

  • आपके अपने, अपने जीवनसाथी, बच्चों और माता-पिता के लिए हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी का विकल्प चुनने पर, आप अपने करों में 25,000 रु का वार्षिक लाभ पा सकते हैं (बशर्ते कि आपकी आयु 60 वर्ष से अधिक नहीं है)। 
  • अगर आप अपने माता-पिता के लिए प्रीमियम का भुगतान करते हैं जो एक वरिष्ठ नागरिक हैं (उम्र 60 या उससे अधिक), तो आप अधिकतम 50,000 रु तक का कर लाभ पा सकते हैं। 
  • अगर आपकी आयु 60 वर्ष से कम है और आपके माता-पिता वरिष्ठ नागरिक हैं, तो एक टैक्सपेयर के रूप में आपको धारा 80D के तहत अधिकतम 50,000 रु तक का कर लाभ मिल सकता है। 
  • अगर आप 60 वर्ष से अधिक आयु के हैं और अपने माता-पिता के लिए एक मेडिकल इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान कर रहे हैं, तो धारा 80D के तहत अधिकतम 1 लाख रु का कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं। 

 

हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़ी कुछ ऐसी सामान्य शर्तें जिनके प्रति आपको सजग रहना चाहिए

 

  •   1

    सम इंश्योर्ड(एस आई):  सम इंश्योर्ड वह अधिकतम राशि है जो आपकी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी आपके अस्पताल मीन भर्ती होने के समय भुगतान करती है। अगर आपका मेडिकल इलाज का खर्च, आपके द्वारा लिए गए सम इंश्योर्ड राशि से अधिक हैं, तो आपको इससे अधिक होने वाली राशि का भुगतान स्वयं ही करना होगा। इसलिए आपको हमेशा अधिक सम इंश्योर्ड वाले हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस का विकल्प चुनना चाहिए। 

  •   2

    पहले से मौजूद बीमारियाँ : अगर आप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने से पहले किसी बीमारी से पीड़ित हैं, तो यह बीमारी पहले से मौजूद बीमारियों की श्रेणी में आती है। 

  •   3

    वेटिंग पीरियड : यह वह समय अवधि है, जब आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी शुरू होने से पहले कुछ या सभी कवरेज की प्रतीक्षा करनी होगी। जैसे पहले से मौजूद बीमारियों के लिए कवरेज प्रदान करने से पहले कई हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज का एक निश्चित वेटिंग पीरियड होता है। 

  •   4

    सब-लिमिट्स:  सब-लिमिट्स कैप हैं, जो आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर को उन खर्चों को प्रतिबंधित करने का स्थान देते हैं जो उन्हें किसी विशेष स्थिति के लिए भुगतान करने की आवश्यकता होती है। यह मुख्य रूप से फ्रौड क्लेम के मामलों को कम करने के लिए किया जाता है। अधिकांश हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों में कमरे के किराए, सामान्य बीमारियों, पूर्व नियोजित प्रक्रियाओं, एम्बुलेंस खर्च और डॉक्टर की फीस पर सब-लिमिट्स होती हैं। सब-लिमिट्स आपके द्वारा चयनित सम इंश्योर्ड का एक निश्चित प्रतिशत या आपके और आपकी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी के बीच सहमति से एक निश्चित राशि हो सकती है। 

  •   5

    सह-भुगतान : सह-भुगतान या कॉ-पे, क्लेम की गई राशि का निश्चित प्रतिशत होता है जिसका आपको अपने इंश्योरेंस कंपनी द्वारा भुगतान करने से पहले अपने स्वास्थ्य संबंधी खर्चों के लिए भुगतान करने की आवश्यकता होती है। जब आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते या उसे रिन्यू करते हैं तो सह-भुगतान आपके द्वारा तय किया जाता है। आप जितना अधिक सह-भुगतान करेंगे, आपकी प्रीमियम उतनी ही कम होगी।

  •   6

    डीडक्टिबल : डीडक्टिबल आपके हेल्थ केयर खर्चों के भुगतान के लिए आपके और आपकी इंश्योरेंस कंपनी के बीच कोस्ट शेयरिंग की अवधारणा है। यह एक निश्चित राशि होती है जिसका आपको हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम करने के लिए हर बार भुगतान करना जरूरी होता है। अगर आप डॉक्टर के पास या अस्पताल कम जाते हैं, तो आपके लिए हाई डीडक्टिबल हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस फायदेमंद हो सकते हैं। इसके अलावा, हाई डीडक्टिबल हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस आपकी प्रीमियम राशि को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं। 

  •   7

    कमरे के किराए की सीमा : अगर आप अस्पताल में भर्ती हैं, तो कमरे के किराए की सीमा आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी द्वारा आपको प्रति दिन के कमरे के शुल्क के लिए प्रदान किया जाने वाला अधिकतम कवरेज है।

  •   8

    सहबीमा : अगर आपके पास कई हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी हैं, तो आप उन सभी के साथ एक हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम कर सकते हैं और आपके द्वारा तय किए गए निश्चित प्रतिशत के अनुसार, सभी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों द्वारा क्लेम राशि की प्रतिपूर्ति की जाएगी। इस अवधारणा को कॉइंश्योरेंस अर्थात सहबीमा कहा जाता है। इसलिए, अगर आप दो हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों (A और B) के बीच क्रमशः 40% और 60% के बीच का सहबीमा का निर्धारण करते हैं, तो आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसियों के नियमों और शर्तों के अनुसार 1 लाख रु के क्लेम पर, कंपनी A आपको 40,000 रु की प्रतिपूर्ति करेगी और कंपनी B 60,000 रु की प्रतिपूर्ति करेगी। 

  •   9

    फ्री लुक पीरियड : हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियां आपको 15 दिनों का फ्री लुक पीरियड देती हैं। इस अवधि में आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की जांच कर सकते हैं और यह तय कर सकते हैं कि यह आपके लिए सबसे उपयुक्त है या नहीं। अगर आपको लगता है कि यह आपके लिए पर्याप्त मेडिकल इंश्योरेंस प्लान नहीं है, तो आप 15 दिनों के भीतर इस मेडिकल इंश्योरेंस पॉलिसी को रद्द कर सकते हैं। अगर आप 15 दिनों के भीतर पॉलिसी रद्द करते हैं तो आपसे किसी तरह का कैन्सलेशन चार्ज नहीं लिया जाएगा। हालाँकि, आपको यह निर्णय लेने में जितने दिन लगे हैं, आपसे उतने दिनों का प्रीमियम लिया जाएगा। 

  • 10

    ग्रेस पीरियड : आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की समाप्ति के बाद, आपके पास अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू करने के लिए 30 दिनों का समय होता है। इस 30 दिन के समय को ग्रेस पीरियड कहा जाता है। अगर आप इन 30 दिनों में अपनी पॉलिसी को रिन्यू करते हैं, तो आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में वेटिंग पीरियड, पहले से मौजूद बीमारियों के लिए कवरेज आदि का लाभ मिलेगा। लेकिन, इस ग्रेस पीरियड में आपके द्वारा किए गए किसी भी क्लेम को कवर नहीं किया जाएगा। 

हेल्थ इंश्योरेंस और मेडिक्लेम इंश्योरेंस के बीच अंतर

 

अगर आप सोच रहे हैं कि हेल्थ इंश्योरेंस प्लान और मेडिक्लेम पॉलिसी में क्या अंतर है, तो आप बस इसे पूरा पढ़ें। 

मेडिक्लेम इंश्योरेंस, इंश्योरेंस की एक ऐसी श्रेणी है जिसमें मेडिक्लेम पॉलिसी केवल मेडिक्लेम पॉलिसी की अवधि के लिए अस्पताल में भर्ती से संबंधित खर्चों को कवर करती है। मेडिकल इंश्योरेंस प्लांस के विपरीत, एक मेडिक्लेम योजना व्यापक कवरेज प्रदान नहीं करेगी। मेडिक्लेम इंश्योरेंस और भारत में हेल्थ पॉलिसी के बीच कुछ दूसरे अंतर भी हैं। 

नीचे दिए गए टेबल में हमने आपके लिए मेडिकल इंश्योरेंस प्लांस और मेडिक्लेम पॉलिसी के बीच इन अंतरों को बेहतर ढंग से समझने और ऑनलाइन या कहीं और से मेडिकल इंश्योरेंस खरीदने के लिए अधिक सूचनात्मक विकल्प बनाने पर प्रकाश डाला है।

 


विषय के अंतर 
हेल्थ इंश्योरेंस मेडिक्लेम पॉलिसी
कवरेज अस्पताल में भर्ती होने के खर्च के लिए कवरेज, वार्षिक एनुयल हेल्थ चेकअप के लिए कवरेज, ओपीडी खर्च, अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के खर्च, डेली कैश बेनिफिट आदि जैसे व्यापक कवरेज प्रदान करता है।  मेडिक्लेम पॉलिसी दुर्घटना, अचानक बीमारी और सर्जरी के मामले में केवल हॉस्पिटलाइजेशन खर्च को कवर करती है। 
ऐड ऑन कवर्स  आप बजाज आलियांज के एक्स्ट्रा केयर प्लस ऐड-ऑन कवर, हॉस्पिटल कैश डेली अलाउंस पॉलिसी का विकल्प चुन सकते हैं। मेडिक्लेम पॉलिसी के साथ कोई ऐड-ऑन कवर नहीं खरीदा जा सकता है।
इंश्योर्ड रकम 1.5 लाख रु से 25 करोड़ रु तक की विस्तृत रेंज के साथ मल्टीपल सम इंश्योर्ड के विकल्प मौजूद होते हैं।  मेडिक्लेम पॉलिसी के लिए अधिकतम सम इंश्योर्ड 5 लाख रु हो सकता है। 
क्लेम  आप अपने क्लेम को कैशलेस या रीइमबर्समेंट प्रोसेस के जरिए सेटल कर सकते हैं। साथ ही आप क्रिटिकल इलनेस कवर जैसे हेल्थ कवर के मामले में क्लेम सेटलमेंट के रूप में एकमुश्त राशि भी प्राप्त कर सकते हैं।  जब तक आप अपने एसआई से छूट नहीं लेते हैं, तब तक एक मेडिक्लेम पॉलिसी आपके पॉलिसी वर्ष में आपके क्लेम को सेटल नहीं कर सकती है। 
फ्लेक्सिबिलिटी अपेक्षाकृत अधिक फ्लेक्सिबल है, जैसा कि आपके पास कई सम इंश्योर्ड विकल्प हैं, ऐड-ऑन कवर का विकल्प, सम इंश्योर्ड बढ़ाने और कम्प्रेहैन्सिव कवरेज बढ़ाने की सुविधा होती है।  हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस की तुलना में एक मेडिक्लेम पॉलिसी बहुत ज्यादा फ्लेक्सिबल नहीं हो सकती है।
क्रिटिकल इलनेस कवर  क्रिटिकल इलनेस कवर प्रदान करता है। एक मेडिक्लेम पॉलिसी क्रिटिकल इलनेस कवर नहीं भी प्रदान कर सकती है।

 

हम आशा करते हैं कि मेडिक्लेम और मेडिक्लेम पॉलिसीज की इस जानकारी से आपको हेल्थ इंश्योरेंस और मेडिक्लेम पॉलिसी के बीच के अंतर को समझने में सहायता मिली है।

 

 

लॉन्ग टर्म वर्सेज शॉर्ट टर्म हेल्थ इंश्योरेंस

 

विषय के अंतर  शॉर्ट टर्म हेल्थ इंश्योरेंस  लॉन्ग टर्म हेल्थ इंश्योरेंस 
समय अवधि एक शॉर्ट टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी 12 महीनों तक वैध होती है। एक लॉन्ग टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी 2 से 3 साल तक वैध होती है।
रिन्यूअल  आपको प्रत्येक 12 महीनों के बाद अपने शॉर्ट टर्म हेल्थ इंश्योरेंस प्लान को रिन्यू करना होगा। आपको अपने लॉन्ग टर्म हेल्थ इंश्योरेंस प्लान को 2 से 3 साल तक के लिए रिन्यूअल की चिंता नहीं रहेगी।
प्रीमियम लॉन्ग टर्म हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस की तुलना में शॉर्ट टर्म हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी का प्रीमियम कम होता है। एक लॉन्ग टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी का प्रीमियम अपेक्षाकृत ज्यादा होता है।
प्रीमियम रेट रिविजन प्रीमियम रेट रिविजन हर साल (प्रॉडक्ट मॉडिफिकेशन या आयु स्लैब में बदलाव के आधार पर) लागू होते हैं।  आपकी पॉलिसी की एक्सपायरी तक प्रीमियम रेट रिविजन लागू नहीं होता है।
प्रीमियम पर छूट  शॉर्ट टर्म हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज प्रीमियम राशि पर काफी छूट नहीं देती हैं। अगर आप लॉन्ग टर्म हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते हैं, तो हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियां आपको भारी छूट देती हैं।
उपयुक्तता  अगर आप युवा हैं और स्वस्थ हैं, तो ये हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस आपके लिए उपयुक्त हैं।  ये हेल्थ इंश्योरेंस प्लान वरिष्ठ लोगों के लिए उपयुक्त होते हैं, क्योंकि इससे उन्हें अपने फाइनेंस को मैनेज करने में मदद मिलती है, क्योंकि प्रीमियम दर कुछ वर्षों के लिए तय रहती है।

 

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने के लिए जरूरी दस्तावेज

 

  •   1

    पासपोर्ट साइज फोटो

  •   2

    पॉलिसी प्रपोजल फॉर्म

  •   3

    निवास प्रमाण पत्र : आप अपने निवास प्रमाण के रूप में निम्नलिखित में से कोई भी दस्तावेज प्रस्तुत कर सकते हैं: 

    • ✓    वोटर आईडी 
    • ✓    आधार कार्ड
    • ✓    पासपोर्ट
    • ✓    बिजली का बिल
    • ✓   ड्राइविंग लाइसेन्स
    • ✓    रेशन कार्ड

     

  •   4

    आयु प्रमाण पत्र : आप अपने आयु प्रमाण के रूप में निम्नलिखित में से कोई भी दस्तावेज प्रस्तुत कर सकते हैं:

    • ✓    आधार कार्ड
    • ✓    बर्थ सर्टिफिकेट
    • ✓    पैन कार्ड
    • ✓    10वीं या 12वीं की मार्कशीट
    • ✓    वोटर आईडी
    • ✓    ड्राइविंग लाइसेन्स

     

  •   5

    पहचान पत्र : आप अपने पहचान पत्र के रूप में निम्नलिखित में से कोई भी दस्तावेज प्रस्तुत कर सकते हैं: 

    • ✓    आधार कार्ड
    • ✓    ड्राइविंग लाइसेन्स
    • ✓    पासपोर्ट
    • ✓    पैन कार्ड
    • ✓    वोटर आईडी

     

आपके द्वारा चुने गए कवरेज के आधार पर, आपकी आयु, मेडिकल हिस्ट्री, वर्तमान जीवन शैली के विकल्प और आपके आवासीय पते के लिए आपको कुछ और दस्तावेज प्रस्तुत करने के लिए कहा जा सकता है।

ऑनलाइन हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने के कुछ जरूरी स्टेप्स

 

अगर आप ऑनलाइन हेल्थ इंश्योरेंस खरीदना चाहते हैं, तो आगे और न देखें। आप इन सभी स्टेप्स की मदद से बजाज आलियांज की हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को जल्दी और बड़ी आसानी से ऑनलाइन खरीद सकते हैं:

  • स्टेप 1
  • स्टेप 2

    आप जो मेडिकल इंश्योरेंस खरीदना चाहते हैं, उसे सिलैक्ट करें।

  • स्टेप 3

    अपना व्यक्तिगत विवरण जैसे कि अपना नाम, अपनी जन्मतिथि, हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी जिसे आप खरीदना चाहते हैं और परिवार के अन्य सदस्यों का विवरण, जिन्हें आप चयनित हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के अंतर्गत कवर करना चाहते हैं, अपना पिन कोड, कांटैक्ट नंबर दर्ज करें।

  • स्टेप 4

    गेट माय कोट बटन पर क्लिक करें।

  • स्टेप 5

    आपका हेल्थ इंश्योरेंस क्वोट और प्रीमियम का विवरण स्क्रीन पर दिखाया जाएगा, जहां आप अपनी सुविधा के अनुसार सह-भुगतान का चयन कर सकते हैं और हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी ऑनलाइन खरीदने के लिए कन्फर्म प्लान बटन पर क्लिक कर सकते हैं।

एक बार ऑनलाइन पेमेंट करने के बाद, आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी (सॉफ्टकॉपी) तुरंत मिल जाएगी।

भारत में अधिकांश हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों की एक वेबसाइट होती है, जहां वे अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसियों की सुविधा देते हैं। बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस सहित कुछ कंपनियों के पास आपके ऑनलाइन हेल्थ इंश्योरेंस की जरूरतों को पूरा करने के लिए एक ऐप भी मौजूद है। 

आप हमारे मोबाइल ऐप – कॅरिंगली युर्स को डाउनलोड करके, हमारे व्हाट्सएप नंबर: +91 75072 45858 पर बस एक ‘Hi’ मेसेज लिखकर या +91 80809 45060 पर मिस्ड कॉल देकर भी हमारी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी ऑनलाइन खरीद सकते हैं। 

रिन्यूअल

 

आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी द्वारा प्रदान की गई कवरेज की निरंतरता बनाए रखने के लिए हेल्थ इंश्योरेंस रिन्यूअल बहुत महत्वपूर्ण है। आपको इसकी समाप्ति से पहले अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू करना चाहिए। अगर आप समाप्त होने के बाद भी अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू नहीं करते हैं, तो आपका इंश्योरर आपको   हेल्थ इंश्योरेंस रिन्यूअल के लिए 30 दिनों का ग्रेस पीरियड प्रदान करेगा।  हालाँकि, इन 30 दिनों में आपके किसी भी हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम को कवर नहीं किया जाएगा। और, अगर आप अपनी पॉलिसी को ग्रेस पीरियड में भी रिन्यू नहीं करते हैं, तो आप किसी भी मेडिकल इंश्योरेंस प्लान जैसे एनसीबी (नो क्लेम बोनस), वेटिंग पीरियड आदि का लाभ नहीं उठा पाएंगे। 

अपनी बजाज आलियांज हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू करने के लिए, आप हमारी वेबसाइट पर जा सकते हैं या हमारा मोबाइल ऐप डाउनलोड कर सकते हैं : – कॅरिंगली युर्स. आप हमारे व्हाट्सएप नंबर (+91 75072 45858) पर हमें ’Hi’ मेसेज भी भेज सकते हैं और हमारी कस्टमर सपोर्ट टीम आपकी आवश्यकता के अनुसार आपकी सहायता करेगी।

 

हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी

 

हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी आपको अपनी मौजूदा हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के लाभों को खोए बिना अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर को बदलने की अनुमति देता है। इसलिए, अगर आप अपनी वर्तमान मेडिकल इंश्योरेंस प्लान से संतुष्ट नहीं हैं या आप अपने मेडिकल इंश्योरेंस प्लांस में कुछ और सुविधा चाहते हैं, तो आप समान क्रेडिट के साथ अपने हेल्थ इंश्योरर या अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को बदल सकते हैं और इसमें आपकी पिछली कंपनी के मेडिकल इंश्योरेंस प्लान के सारे क्रेडिट आपको मिल जाएंगे।

आपको अपना हेल्थ इंश्योरेंस बदलते समय, आपके पास निम्नलिखित विकल्प होते हैं। :

  • आप एक हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर से दूसरे प्रोवाइडर में स्विच कर सकते हैं।
  • आप उसी हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर के साथ मौजूदा मेडिकल इंश्योरेंस प्लांस के बीच स्विच कर सकते हैं।
  • आप इंडिविजुअल से फ्लोटर पॉलिसी पर और इसके विपरीत स्विच कर सकते हैं।
  • आप नए इंश्योरर के साथ रिवाइज्ड सम इंश्योर्ड (एस आई) के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • आप अपनी मौजूदा हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में मिलने वाले कवरेज को बढ़ा सकते हैं। हालाँकि, इसके लिए आपको कुछ मेडिकल टेस्ट से गुजरना पड़ सकता है और, इन कवरेज के लिए नया वेटिंग पीरियड भी लागू हो सकता है।

 

हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी क्राइटेरिया :

  • आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को केवल इसे रिन्यू करते समय ही बदल सकते हैं।
  • आपको अपनी मौजूदा हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की समाप्ति से कम से कम 45 दिन पहले अपने नए हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर को सूचित करना चाहिए।
  • आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हेल्थ इंश्योरेंस रिन्यूअल प्रोसेस में कोई ब्रेक नहीं होता हैं।
  • आपको हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी के लिए निम्नलिखित दस्तावेज प्रस्तुत करने चाहिए :

      ✓    पिछली पॉलिसीज

      ✓    अपने जो क्लेम किए हैं उसका विवरण

      ✓    प्रपोजल फॉर्म

      ✓    आयु प्रमाण पत्र

      ✓    यदि कोई सकारात्मक घोषणाएं है: डिस्चार्ज कार्ड, जांच रिपोर्ट, लेटेस्ट प्रेसक्रिप्शन और क्लिनिकल कंडीशन

      ✓    *इंश्योरर द्वारा अनुरोध करने पर कोई अन्य दस्तावेज

बजाज आलियांज : द्वारा लिखित - अपडेट किया गया : 4 जनवरी 2021

 

ग्राहक की कहानियां

 

एवरेज रेटिंग:

 4.75

(3,912 रिव्यूज और रेटिंग के आधार पर)

 

आशीष झुंझुनवाला

मैं खुश और संतुष्ट हूँ क्योंकि मेरा क्लेम सेटलमेंट जो 2 दिनों के अंदर स्वीकृत किया गया था ...

सुनीता म. आहूजा

लॉकडाउन के समय में जिस तेज़ी के साथ बीमा कॉपी की डिलीवरी की गयी. बजाज आलियांज टीम को सलाम 

रेनी जोर्ज

मैं बजाज आलियांज वड़ोदरा की टीम, विशेष रूप से श्री हार्दिक मकवाना और श्री आशीष को धन्यवाद देना चाहता हूँ।

सतीश चन्द कटोच

बिना किसी झंझट के और बड़ी आसानी से हम वेब के माध्यम से पॉलिसी लेते समय सभी रिव्यूज को पढ़ सकते हैं। 

आशीष मुखर्जी

किसी के लिए सबसे आसान, कोई परेशानी नहीं, कोई भ्रम नहीं। अच्छा कार्य। सौभाग्य।

जयकुमार राओ

बहुत उपयोगकर्ता के अनुकूल। मैंने 10 मिनट से भी कम समय में अपनी पॉलिसी प्राप्त कर ली।

 

हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़े कुछ आम सवाल

 

 

 

   क्या भारत में हेल्थ इंश्योरेंस खरीदना अनिवार्य है?

भारत में, हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना अनिवार्य नहीं है। लेकिन, किसी भी प्रकार के मेडिकल इमरजेंसी को संभालने के लिए हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी जैसे फाइनेंशियल सिक्योरिटी बहुत जरूरी है।

   बजाज आलियांज हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ मुझे क्या मिलेगा?

हमारी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ, आप क्रमशः 60 और 90 दिनों तक अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के खर्चों के लिए कवरेज का लाभ उठा सकते हैं। पॉलिसी में अस्पताल के खर्च, एम्बुलेंस फीस, कमरे का किराया और बोर्डिंग खर्च शामिल हैं (चयनित प्रॉडक्ट के आधार पर कवरेज अलग-अलग होंगे)।  आप पूरे भारत में हमारे 6,500+ अस्पतालों में कैशलेस इलाज का लाभ उठा सकते हैं। हम आपको पूरी तरह से तनाव मुक्त रहने के लिए मेडिकल टेस्ट, फिजीशियन की फीस/डॉक्टर की कंसल्टेशन फीस और एम्बुलेंस फीस भी प्रदान करते हैं!

   क्या मुझे हेल्थ इंश्योरेंस ऑनलाइन खरीदना चाहिए?

If you want a quick and hassle-free purchase, buying online is the way to go. We are here to help you to buy Health Insurance easily and efficiently. Our multiple payment options will further ease your payment woes. Your medical insurance policy is issued online, which saves you the effort of ever carrying a hard copy. All these factors, along with proactive customer support, makes buying Health Insurance policy online a better alternative.

   मैं हेल्थ इंश्योरेंस की मदद से अपना टैक्स कैसे बचा सकता हूँ?

बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस पॉलिसी आपको आयकर की धारा 80D के तहत आपके द्वारा भुगतान किए गए प्रीमियम पर 1 लाख रु तक कर बचाने में मदद करती है। यहां बताया गया है कि आप टैक्स कैसे बचा सकते हैं: आप अपने, अपने जीवनसाथी, बच्चों और माता-पिता के लिए जो प्रीमियम देते हैं, उसके ऊपर आपको अपने टैक्स में 25,000 रु का वार्षिक लाभ मिल सकता है (बशर्ते कि आपकी आयु 60 वर्ष से अधिक नहीं है)। अगर आप अपने माता-पिता के लिए प्रीमियम का भुगतान करते हैं जो एक वरिष्ठ नागरिक हैं (उम्र 60 या उससे अधिक), तो आप अधिकतम 50,000 रु तक का कर लाभ पा सकते हैं। अगर आपकी आयु 60 वर्ष से कम है और आपके माता-पिता वरिष्ठ नागरिक हैं, तो एक टैक्सपेयर के रूप में आपको धारा 80D के तहत अधिकतम 50,000 रु तक का कर लाभ मिल सकता है। अगर आप 60 वर्ष से अधिक आयु के हैं और अपने माता-पिता के लिए एक मेडिकल इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान कर रहे हैं, तो धारा 80D के तहत अधिकतम 1 लाख रु का कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

   हेल्थ इंश्योरेंस कौन खरीद सकता है?

अगर आप एक भारतीय नागरिक हैं और 18 वर्ष से अधिक आयु के हैं, तो आप भारत में एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीद सकते हैं। अगर आप नाबालिग हैं (18 वर्ष से कम आयु के), तो आपके माता-पिता आपको किसी भी मेडिकल इंश्योरेंस प्लान के अंतर्गत कवर कर सकते हैं।

   हेल्थ इंश्योरेंस में क्या कवर किया जाता है?

हेल्थ इंश्योरेंस आपको हॉस्पिटलाइजेशन खर्चों को शामिल करता है, जिसमें अस्पताल में भर्ती होने के बाद के खर्च, डॉक्टर के कंसल्टेशन फीस और रोगी के खर्च शामिल हैं।

   मैंने पहले से ही लाइफ इंश्योरेंस में निवेश किया हुआ है। क्या मुझे अभी भी हेल्थ इंश्योरेंस की जरूरत है?

लाइफ इंश्योरेंस एक बहुत ही अच्छा निवेश है और इसमें आपको देथ कवर मिलता है, लेकिन यह आपको आज के इस बढ़ते मेडिकल बिलों का भुगतान करने के काम नहीं आता है। हेल्थ इंश्योरेंस कवर, अस्पताल में भर्ती होने और भारी मेडिकल खर्च के भुगतान से बचाने का एक अच्छा उपाय है। इसलिए, हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस आपको अपनी सेहत से जुड़े अनचाहे खर्चों से बचाता है। क्योंकि इससे आपकी जीवन भर की बचत एक बार में खत्म हो सकती है। 

   एंट्री एज और एक्जिट एज का क्या मतलब है?

एंट्री एज अर्थात प्रवेश करने की आयु यह दर्शाती है कि आपकी आयु कम से कम इतनी होनी चाहिए, ताकि आप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के तहत कवरेज प्राप्त कर सकें।.एक्जिट एज का मतलब है कि एक निश्चित आयु सीमा पार करने के बाद आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के दायरे में नहीं आएंगे। विभिन्न हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस के लिए एंट्री एज और एक्जिट एज अलग-अलग होती है।

   एक ‘फ्री लुक पीरियड’ क्या होता है?

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियां आपको 15 दिनों का फ्री लुक पीरियड प्रदान करती हैं और इस समय के बीच आप अपनी खरीदी गई हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी का विश्लेषण कर सकते हैं। अगर आपको लगता है कि यह मेडिकल इंश्योरेंस प्लान आपके लिए सही नहीं है, तो आप इन 15 दिनों में अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रद्द कर सकते हैं और इसके लिए आपको किसी तरह की कैन्सलेशन फीस भी नहीं देनी होगी। 

   ‘डिपेंडेंट’ किन्हें माना जाता है?

आपके बच्चों, पति-पत्नी, माता-पिता और सास-ससुर को आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में डिपेंडेंट के रूप में जोड़ा जा सकता है।

   कॉ-पेमेंट क्या होता है? ‘डिडक्टिबल्स’ क्या हैं?

कॉ-पेमेंट क्लेम राशि का एक निश्चित प्रतिशत होता है और आपको प्रत्येक हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम के लिए उस राशि का भुगतान करना जरूरी होता है। जबकि, डिडक्टिबल एक निश्चित राशि होती है जिसका आपको हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम करने के लिए हर बार भुगतान करना जरूरी होता है। 

   सम इंश्योर्ड के ‘रिस्टोरेशन’ और ‘रिइंस्टेटमेंट’ का क्या मतलब होता है?

सम इंश्योर्ड के ‘रिस्टोरेशन’ और ‘रिइंस्टेटमेंट’ का मतलब है कि अगर आप अपने मौजूदा SI का पूरा इस्तेमाल कर लेते हैं, तो आपको उसी पॉलिसी वर्ष में अगली बार हॉस्पिटलाइजेशन खर्च के लिए उसे फिर से भरना होगा। हालाँकि, आप रिस्टोरेशन के लाभ को कैरी फॉरवर्ड नहीं कर सकते हैं और इसका इस्तेमाल आपके द्वारा पहले क्लेम की गई समान बीमारी/चोट के लिए नहीं किया जा सकता है। 

   डे केयर हेल्थ इंश्योरेंस का क्या फायदा है?

टेक्नोलॉजिकल एडवांसमेंट के जरिए आपको अब सेप्टोप्लास्टी या लिथोट्रिप्सी जैसी प्रक्रियाओं के लिए अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं है। लेकिन, इन प्रक्रियाओं से जुड़े मेडिकल खर्च बहुत महंगे हैं। आपके पास डे केयर मेडिकल इंश्योरेंस प्लांस होना बेहद फायदेमंद है, ताकि आपको ऐसी सर्जरी या मेडिकल प्रक्रियाओं के प्रति कवर प्राप्त हो सके, जहां आपको 24 घंटे से अधिक समय तक अस्पताल में रहने की जरूरत नहीं पड़ती है।

   ‘कोई एक बिमारी’ का क्या मतलब है

कोई एक बिमारी का मतलब बीमारी की लगातार अवधि से है, जिसमें आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के नियमों और शर्तों के अनुसार कुछ दिनों के भीतर फिर से बीमार पड़ना शामिल है।

   इंश्योरेंस से हमें हेल्थ चेकअप में कैसे मदद मिलती है?

अगर आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को लगातार 4 वर्षों तक कोई भी हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम किए बगैर रिन्यू करते हैं, तो आप फ्री हेल्थ चेकअप के पात्र होते हैं। इस हेल्थ चेकअप से जुड़े खर्च की जिम्मेदारी आपकी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी की होती है। 

   मिनिमम और मैक्सिमम पॉलिसी पीरियड क्या हैं?

आप 1, 2 या 3 वर्ष की अवधि के लिए हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीद सकते हैं। अगर आप लॉन्ग टर्म हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी (1 साल से ज्यादा) खरीदते हैं, तो आप अच्छी छूट पा सकते हैं। 

   हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़ी कौन-कौन सी गलत जानकारियाँ प्रचलित हैं?

हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़ी कुछ गलत जानकारियाँ : 

✓     जब भी आप कोई हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीदते हैं, तो बस आपको खरीदते समय ही लिस्टेड अस्पतालों की जांच करनी पड़ती है।

✓     एम्प्लॉयर द्वारा प्रदान किया गया हेल्थ इंश्योरेंस आपको कवर करने के लिए पर्याप्त है।

✓     अगर आपके पास हेल्थ इंश्योरेंस है, तो आपके सभी मेडिकल खर्च उसमें कवर हो जाते हैं।

✓     अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस का लाभ पाने के लिए आपको कम से कम 3 घंटे तक अस्पताल में भर्ती रहने की जरूरत है।

✓     अगर आप फिट हैं तो आपको हेल्थ इंश्योरेंस की जरूरत नहीं है।

✓     धूम्रपान करने वाले व्यक्ति हेल्थ इंश्योरेंस नहीं खरीद सकते हैं।

 

   मुझे पहले से मौजूद बीमारियों और वेटिंग पीरियड के बारे में बताएं।

पहले से मौजूद बीमारियों में उन बीमारियों को शामिल किया जाता है जिसके बारे में आप मेडिकल इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने से पहले ही जानते थे। इसलिए, आपको मेडिकल इंश्योरेंस प्लान खरीदते समय किसी भी तरह की मौजूदा बीमारी/कंडीशन के बारे में जरूर बताना चाहिए।



इस बात का विशेष ध्यान रखें कि पहले से मौजूद बीमारियों के मामले में एक वेटिंग पीरियड होती है (जो हर कंपनी में अलग-अलग होती है)। इसलिए, कम उम्र में एक पॉलिसी लेने से आप केवल यह आशा कर सकते हैं कि जब तक आपको पहले से मौजूद श्रेणी के अंतर्गत आने वाली बीमारी का पता चलता है, तब तक आपका वेटिंग पीरियड पहले ही पूरा हो चुका होता है। इसके अलावा, आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आप अपनी मेडिकल इंश्योरेंस बीमा पॉलिसी का पूरा लाभ उठाने के योग्य हैं। 

   कौन-कौन से खर्च को सब-लिमिट राशि में शामिल किया गया है?

सब-लिमिट अर्थात वह अधिकतम राशि है जिसका आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी द्वारा आपके मेडिकल खर्चों के लिए भुगतान की जाती है। आमतौर पर सब-लिमिट्स में कमरे के किराया की सब-लिमिट, हॉस्पिटलाइजेशन सब-लिमिट, एम्बुलेंस चार्ज, ऑक्सीजन सप्लाई, डॉक्टर की फीस, डायग्नोस्टिक टेस्ट आदि शामिल हैं। 

   हेल्थ इंश्योरेंस और पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस में क्या अंतर हैं?

हेल्थ इंश्योरेंस में आप अपना क्लेम दायर कर सकते हैं और आपका इंश्योरर, आपको सम इंश्योर्ड तक की राशि की प्रतिपूर्ति करेगा। दूसरी ओर, पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस प्लान आपको क्लेम दायर करने से पहले पूरे सम इंश्योर्ड का भुगतान करती है। .

   फैमिली फ्लोटर और इंडिविजुअल हेल्थ पॉलिसी में क्या अंतर है?

इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में, इस पॉलिसी के अंतर्गत आने वाले सभी सदस्यों के लिए अलग-अलग सम इंश्योर्ड होता है, जबकि एक फैमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस में सभी इंश्योर्ड सदस्य एक ही सम इंश्योर्ड को शेयर करते हैं। 

   महिलाओं के लिए कौन से हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस उपलब्ध हैं?

बजाज आलियांज में हमारे पास ऐसे स्पेशल हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस मौजूद हैं जो खासकर महिलाओं की सेहत से जुड़ी समस्याओं से संबंधित खर्चों का ख्याल रखते हैं। महिलाओं के लिए हमारी क्रिटिकल इलनेस प्लास सभी महिलाओं के लिए एक विशेष पॉलिसी है, जिसमें महिलाओं को 8 गंभीर बीमारियों जैसे कि जल जाना, स्तन कैंसर, योनि कैंसर आदि के जोखिम के प्रति कवर करती है। 

   भारत में मैटरनिटी इंश्योरेंस प्लान के लिए वेटिंग पीरियड और सम इंश्योर्ड कितनी है?

मैटरनिटी से जुड़े खर्चों की कवरेज के लिए 72 महीनों की वेटिंग पीरियड लागू होती है। अगर आप  3 लाख रु और 7.5 लाख रु के बीच के सम इंश्योर्ड का विकल्प चुनते हैं, तो नॉर्मल डिलीवरी के लिए कवरेज 15,000 रु और सीज़ेरियन सेक्शन के लिए कवरेज 25,000 रु तक सीमित है और अगर आप 10 लाख और 50 लाख के बीच के सम इंश्योर्ड का विकल्प चुनते हैं, तो यह नॉर्मल डिलीवरी के लिए 25,000 रु और सीज़ेरियन सेक्शन के लिए 35,000 रु तक सीमित होगी। हर प्रॉडक्ट के नियम और शर्तों के आधार पर प्रत्येक प्रॉडक्ट के लिए मैटरनिटी की वेटिंग पीरियड अलग-अलग होती है। 

   मैं अपने मौजूदा फैमिली फ्लोटर हेल्थ इंश्योरेंस में एक नया सदस्य कैसे जोड़ सकता हूँ?

आप किसी भी मौजूदा फैमिली फ्लोटर इंश्योरेंस प्लांस में एक नए सदस्य को कवर करने के लिए एक्सट्रा प्रीमियम राशि के साथ एक हेल्थ डिक्लेरेशन और एंडोर्समेंट फॉर्म भरकर ऐसा कर सकते हैं। 

   पॉलिसी दस्तावेज प्राप्त करने के बाद मैं अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के विवरण में कैसे बदलाव कर सकता हूँ?

आप हमारी वेबसाइट पर जाकर अपना विवरण बदल सकते हैं या हमारे कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव से संपर्क कर सकते हैं, जो आपको जरूरी बदलाव करने में मदद करेगा।

   मैं अपनी पॉलिसी के स्टेटस की जांच कैसे कर सकता हूँ?

आप ऑनलाइन अपनी पॉलिसी का स्टेटस देख सकते हैं। अपनी यूजर आईडी और पासवर्ड के जरिए हमारी वेबसाइट पर लॉग इन करें और स्टेटस की जांच करने के लिए अपनी पॉलिसी नंबर आदि का विवरण दर्ज करें। इसके अलावा, आप हमारे ‘customer portal’ ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं और अपनी पॉलिसी का स्टेटस देख सकते हैं।

   क्या मैं एक से अधिक हेल्थ पॉलिसी खरीद सकता हूँ?

हाँ, आप एक से अधिक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीद सकते हैं। हालाँकि, यह आमतौर पर कई पॉलिसीज को एक साथ संभालने में थोड़ी दिक्कत आ सकती है। हम आपको कम SI वाली एकाधिक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज खरीदने के बजाय अधिक SI वाली एक सिंगल हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज खरीदने की सलाह देते हैं। 

   अगर मैं एक वर्ष के बाद अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू करना चाहता हूँ तो क्या ऐसा हो सकता है?

आप एक वर्ष के बाद अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू कर सकते हैं। लेकिन, अगर आपके हेल्थ इंश्योरेंस रिन्यूअल में कोई ब्रेक आ गया है, तो आपको हमारे कस्टमर सपोर्ट टीम से संपर्क करना जरूरी होगा। हमारी टीम आपको जरूरी स्टेप्स लेने में गाइड करेगी। 

   क्या मुझे अपनी पॉलिसी को रिन्यू करने पर हर बार मेडिकल चेकअप करवाना होगा?

नहीं। आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू करने के लिए हर बार मेडिकल चेकअप करवाना जरूरी नहीं है। हालाँकि, अगर हेल्थ इंश्योरेंस रिन्यूअल में कोई ब्रेक आया है या आपने पॉलिसी को रिन्यू करते समय अपने मेडिकल इंश्योरेंस प्लान के कवर को अपग्रेड किया है, तो आपको कुछ मेडिकल चेकअप करवाने पड़ डाकते हैं। 

   अगर मेरे पास पहले से ही एक हेल्थ इंश्योरेंस है और मैं अपना सम इंश्योर्ड बढ़ाना चाहता हूँ, तो मुझे क्या करना चाहिए?

आप हमारे कस्टमर सपोर्ट टीम से संपर्क कर सकते हैं और अपने सम इंश्योर्ड को बढ़ाने के लिए जरूरी स्टेप्स के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

   अगर मेरी पॉलिसी को उसकी एक्स्पायरी तारीख से पहले रिन्यू नहीं किया जाता है, तो क्या मुझे रिन्यूअल के लिए मना कर दिया जाएगा?

आपकी पॉलिसी की एक्स्पायरी के बाद आपको 30 दिनों का ग्रेस पीरियड दिया जाता है और अगर आप इस समय अपनी पॉलिसी रिन्यू कर लेते हैं तो आपको सारे बेनिफिट्स फिर से वापस मिल जाते हैं। हालाँकि, अगर आप ग्रेस पीरियड समाप्त होने के बाद भी अपनी पॉलिसी को रिन्यू नहीं करते हैं, तो आपको अपने आप को कवर करने के लिए शुरुआत से शुरू करना पड़ सकता है।

   क्या रिन्यूअल बेनिफिट्स को खोए बगैर मैं अपनी पॉलिसी को एक इंश्योरेंस कंपनी से दूसरी कंपनी में ट्रांसफर कर सकता हूँ?

हाँ, हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी के साथ आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी को बदल सकते हैं।

   क्या मेडिकल टेस्ट सभी के लिए अनिवार्य है?

नहीं, आमतौर पर 45 वर्ष से कम आयु के लोगों के लिए मेडिकल टेस्ट अनिवार्य नहीं है। हालांकि, आपकी इंश्योरेंस कंपनी आपके द्वारा सबमिट की गई मेडिकल हिस्ट्री और आपके द्वारा चुनी गई हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के आधार पर आपको कुछ मेडिकल टेस्ट्स करवाने को कह सकती है। 

   मेडिकल टेस्ट का भुगतान कौन करता है?

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने से पहले आपको मेडिकल टेस्ट के खर्च खुद ही उठाने पड़ते हैं। पॉलिसी के नियमों और शर्तों के आधार पर इसकी प्रतिपूर्ति भी की जा सकती है।

   क्या मेरी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी पूरे भारत में मान्य है?

जी हाँ, आप अपनी पॉलिसी के नियमों और शर्तों के अधीन, पूरे भारत में अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर के साथ आपकी सभी स्वास्थ्य संबंधी आपात स्थितियों के लिए कवर होते हैं।

   हेल्थ पॉलिसी खरीदने से पहले मुझे किन-किन बातों का ख्याल रखना पड़ता है?

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने से पहले आपको निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए:

✓     आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी द्वारा प्रदान किए गए सटीक कवरेज के बारे में जानना चाहिए।

✓     आपको वेटिंग पीरियड और ऐक्सक्लूज़न का ध्यान रखना चाहिए।

✓    आपको अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर से कुछ भी नहीं छिपाना चाहिए जैसे कि पहले से मौजूद बीमारियाँ।

✓    आपको बीमा कंपनी के ऑनलाइन प्रोसेस की जांच करनी चाहिए।

✓     आपको अपने इंश्योरर के साथ पॉलिसी रद्द करने, पॉलिसी लैप्स और पॉलिसी रिन्यू करने जैसे विषयों के बारे में अच्छी तरह से पूछताछ करनी चाहिए।

✓     आपको अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम के ब्रेक-अप पर भी एक अच्छी तरह से नज़र डालनी चाहिए और भुगतान करने से पहले अपने सभी संदेहों को दूर कर लेना चाहिए।

   हेल्थ कार्ड का क्या मतलब है?

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियां आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ एक हेल्थ कार्ड प्रदान करती हैं, जिसका उपयोग आप नेटवर्क अस्पतालों में कैशलेस इलाज का लाभ उठाने के लिए कर सकते हैं।

   अगर ऑरिजिनल गुम हो जाए, तो डुप्लीकेट पॉलिसीज जारी की जा सकती हैं?

अगर ऑरिजिनल गुम हो जाए, तो डुप्लीकेट पॉलिसीज जारी की जा सकती हैं?  हालाँकि, आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की डुप्लीकेट कॉपी प्राप्त करने के लिए एक निश्चित राशि का भुगतान करना पड़ सकता है।

   मैं अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को कैसे कैन्सल कर सकता हूँ?

अगर आपने अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी अभी-अभी खरीदी है, तो आप फ्री लुक पीरियड में कोई भी कैन्सलेशन चार्ज दिए बगैर इसे कैन्सल कर सकते हैं। लेकिन, जितने दिनों तक पॉलिसी द्वारा आपको कवर किया गया है, आपको उतने दिनों की प्रीमियम राशि का भुगतान करना होगा।



इसके अलावा आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू करने के बजाय इसके एक्स्पायरी तारीख से पहले भी कैन्सल कर सकते हैं।



अगर आप कुछ निश्चित वर्षों के लिए बिना किसी ब्रेक के इसे रिन्यू करने के बाद अपनी पॉलिसी को सरेंडर करते हैं, तो आप कुछ लाभों के लिए भी पात्र हो सकते हैं। आप अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर से संपर्क कर सकते हैं और अपने मेडिकल इंश्योरेंस प्लान को कैन्सल करने का पूरा विवरण जान सकते हैं।

 

 

   मुझे कितने कवर की जरूरत है?

आपकी कवरेज राशि आपके लाइफस्टाइल, मेडिकल बैकग्राउंड, पहले से मौजूद बीमारियों, आपके परिवार के सदस्यों, वार्षिक आय, आवासीय पते और उम्र पर निर्भर करती है।

   मुझे आपके द्वारा कवर किए जाने वाले अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के मेडिकल खर्चों के बारे में बताएं।

अस्पताल में भर्ती होने से पहले के खर्च में कुछ ऐसे टेस्ट, दवा आते हैं जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होने से पहले किया जाना चाहिए। इसी तरह, अस्पताल में भर्ती होने के बाद के खर्च रिकवरी और दवाओं से जुड़े हो सकते हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती होने के बाद इलाज कराने की जरूरत होती है। पॉलिसी के नियमों और शर्तों के आधार पर, अस्पताल में भर्ती होने के पहले और बाद में क्रमशः 60 और 90 दिन होते हैं। जब आप बीमार पड़ते हैं, तो आमतौर पर आप अपने फैमिली डॉक्टर से सलाह लेते हैं और इससे जुड़े जांच करवाते हैं। अपने डॉक्टर की सलाह पर, अगर जरूरी हो, तो बीमारी के आगे के इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होते हैं। अस्पताल में भर्ती होने से पहले किए गए इन मेडिकल खर्चों को अस्पताल में भर्ती होने के पहले का अर्थात प्रि-हॉस्पिटलाइजेशन खर्च कहा जाता है। अस्पताल में भर्ती होने के बाद के खर्चों में आपके द्वारा छुट्टी के बाद या अस्पताल में भर्ती होने के बाद किए गए सभी खर्च या चार्ज शामिल हैं। उदाहरण के लिए, कंसल्टिंग फिजिशियन सर्जरी के बाद आपके प्रोग्रेस या रिकवरी के बारे में जानने के लिए कुछ टेस्ट लिख सकता है।

   डोमिसाइलरी हॉस्पिटलाइजेशन से आपका क्या मतलब है? इसमें क्या कवर किया जाता है?

डोमिसाइलरी हॉस्पिटलाइजेशन एक ऐसी स्थिति को संदर्भित करता है जहां आप अस्पताल के बजाय घर पर इलाज करा रहे हैं या मेडिकल केयर में हैं और फिर भी आपको अस्पताल में भर्ती माना जाता है। हो सकता है कि अस्पताल में बेड/कमरा न होने के कारण अपने घर पर ही इलाज कर रहे हों या आप इलाज के लिए अस्पताल में शिफ्ट होने की स्थिति में न हों। 

हो सकता है कि अस्पताल में बेड/कमरा न होने के कारण अपने घर पर ही इलाज कर रहे हों या आप इलाज के लिए अस्पताल में शिफ्ट होने की स्थिति में न हों।

   आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस किन-किन चीजों का भुगतान नहीं किया जाता है?

नॉन-मेडिकल आइटम जैसे हेयर रिमूवल क्रीम, हैंड वाश, कोज़ी टॉवल, बेबी बॉटल, ब्रश, पेस्ट, मॉइस्चराइज़र, कैप, आई पैड, कंघी, क्रैडल बड आदि सभी आपकी हेल्थ इंश्योरेंस बीमा पॉलिसी के तहत नॉन-पेएबल हैं। नॉन-पेएबल वस्तुओं की पूरी लिस्ट जानने के लिए कृपया अपने पॉलिसी वॉर्डिंग्स को ध्यान से पढ़ें। 

   क्या हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी डायबिटीज़ रोगियों को भी कवरेज प्रदान करती है?

हाँ, इसके लिए आपको कुछ मेडिकल टेस्ट करवाने पड़ सकते हैं। इसके अलावा, आपके मेडिकल टेस्ट रिपोर्ट के अनुसार कुछ वेटिंग पीरियड भी लागू हो सकते हैं।  * इसके अलावा यह यु डब्ल्यू स्वीकृति के अधीन है।

   क्या भारत में हेल्थ इंश्योरेंस एमआरआई, एक्स-रे या किसी दूसरे बॉडी स्कैन जैसे किसी भी प्रकार के डायग्नोस्टिक चार्जेस को कवर करता है?

हाँ, भारत में हेल्थ इंश्योरेंस में रोगी के अस्पताल में भर्ती होने पर, आपकी पॉलिसी में वर्णित नियमों और शर्तों के अनुसार कुछ मेडिकल टेस्ट और स्कैन शामिल हैं।

   क्या हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस मैटरनिटी को कवर करते हैं?

हाँ, हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस आपको मैटरनिटी और नवजात की देखभाल के प्रति कवर करते हैं। हालांकि, इसका कवरेज शुरू होने से पहले एक वेटिंग पीरियड होगा। अगर आप भारत में विशेष रूप से मैटरनिटी खर्च कवरेज के लिए हेल्थ इंश्योरेंस खरीद रहे हैं, तो आपको अपने इंश्योरर से कवरेज और वेटिंग पीरियड के बारे में जरूर जान लेना चाहिए। 

   क्या इंश्योरेंस पॉलिसीज आउट पेशेंट खर्चों को भी कवर करती हैं?

हाँ, आउट पेशेंट खर्च को मेडिकल इंश्योरेंस प्लांस के तहत या तो 24 घंटे के अनिवार्य हॉस्पिटलाइजेशन या फिर ओपीडी कवर के रूप में टॉप-अप के रूप में कवर किया जाता है।

   भारत में डे केयर हेल्थ इंश्योरेंस के इलाज के मामले में क्या-क्या कवर किया जाता है?

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस के अंतर्गत आने वाली कुछ डे केयर प्रक्रियाएँ निम्नलिखित हैं :

✓    हड्डी, सेप्टिक और एंटीसेप्टिक जख्म

✓    पाचन तंत्र कमजोर होना

✓    बवासीर का सर्जिकल इलाज

✓    लीगमेंट टूटने से जुड़े सर्जरी

✓    मोतियाबिंद ऑपरेशन

✓    ग्लूकोमा सर्जरी

✓    बाहरी पदार्थों को नाक से निकालना

✓    मेटल वायर निकालना

✓    फ्रैक्चर पिन/कील निकालना

✓    आँखों की पुतली से बाहरी पदार्थों निकालना

आप डे केयर प्रक्रियाओं की पूरी लिस्ट जानने के लिए अपने पॉलिसी दस्तावेज को पढ़ सकते हैं। 

   क्या भारत में हेल्थ इंश्योरेंस के अंतर्गत डेंटल ट्रीटमेंट कवर किया जाता है

डेंटल ट्रीटमेंट का मतलब है दांतों या दांतों की संरचनाओं से जुड़े इलाज जिसमें एग्जामिनेशन, फिलिंग्स (जहां उपयुक्त हो), क्राउन, एक्स्ट्राक्श्न और सर्जरी शामिल हैं। 

किसी भी डेंटल ट्रीटमेंट कॉस्मेटिक सर्जरी, डेन्चर, डेंटल प्रोस्थेसिस, डेंटल इम्प्लांट, ऑर्थोडॉन्टिक्स, किसी भी प्रकार की सर्जरी को  तब तक बाहर रखा जाता है जब तक कि एक एक्सीडेंटल बॉडी इंजरी के कारण आपकी प्राकृतिक दांतों को नुकसान न पहुंचा हो या भर्ती होने की आवश्यकता न हो।

   क्या भारत में हेल्थ इंश्योरेंस में होम्योपैथिक इलाज को कवर किया जाता है?

आयुष उपचारों को कवर करने वाली हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज होम्योपैथिक उपचारों को भी कवर करती हैं। आप अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर से इसकी जांच कर सकते हैं या यह जानने के लिए कि आपके हेल्थ कवर में कवरेज यह शामिल है या नहीं, अपनी पॉलिसी वर्डिंग्स को भी देख सकते हैं। 

   क्रिटिकल इलनेस के अंतर्गत कौन-कौन सी बीमारियाँ आती हैं?

बजाज आलियांज की क्रिटिकल इलनेस पॉलिसी के साथ, आप 10 निम्नलिखित प्रमुख गंभीर बीमारियों के प्रति कवर होते हैं: 

✓     आओर्टा ग्राफ्ट सर्जरी

✓     कैंसर

✓     कोरोनरी आर्टरी बाईपास सर्जरी

✓     पहला हार्ट अटैक (मायोकार्डियल इन्फ्रक्शन)

✓     किडनी फेलियर

✓     मेजर ऑर्गन ट्रांसप्लांट

✓    लगातार लक्षणों के साथ मल्टीपल स्केलेरोसिस

✓     बाहों का स्थायी रूप से पैरलाइज होना

✓     प्राइमारी पल्मोनरी आर्टेरी हाइपरटेंशन

✓     स्ट्रोक

   अगर मेरे पास पहले से ही अपने एम्प्लॉयर की तरफ से हेल्थ इंश्योरेंस मिल गया है, या अगर मेरा परिवार और मैं पहले से ही अपने कॉर्पोरेट से कवर हैं, तो भी मुझे हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी क्यों लेनी चाहिए?

आपके एम्प्लॉयर के पास से मिलने वाली हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के कुछ लाभ हो सकते हैं, लेकिन, कॉर्पोरेट हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस से जुड़ी कुछ कमियां भी हैं : 

✓   आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़ी जरूरतों और हेल्थ कंडीशन के आधार पर कॉर्पोरेट प्लान को कस्टमाइज नहीं कर पाएंगे।

✓    जैसे ही आप कंपनी से इस्तीफा देंगे आपका कवरेज भी खत्म हो जाएगा।

✓    आपके एम्प्लॉयर के पास से मिलने वाले हेल्थ इंश्योरेंस प्लान, आपके रिटायर होने के बाद आपको कवर नहीं करेंगे।

✓    कॉर्पोरेट हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस में आपके भविष्य की योजना के प्रति गुंजाइश बहुत कम होती है।

✓    आप प्राइवेट हेल्थ इंश्योरेंस प्लांस की तुलना में कम SI के प्रति कवर होते हैं।

इस प्रकार, आपको एक ऐसा इंडिविजुअल मेडिकल इंश्योरेंस प्लान भी खरीदना चाहिए जो आपके बजट के साथ-साथ आपकी हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़ी जरूरतों को भी पूरा कर सके। 

   क्या मैं रिन्यूअल के दौरान हेल्थ इंश्योरेंस कवर बढ़ा सकता हूँ?

हाँ, रिन्यूअल के दौरान आप अपने मेडिकल इंश्योरेंस प्लान को बढ़ा सकते हैं। इसके लिए आपको कुछ दस्तावेज जमा करने होंगे और अपने मेडिकल इंश्योरेंस प्लांस के कवरेज को बढ़ाने के लिए एक्सट्रा प्रीमियम का भुगतान करना होगा।

   क्या मैं अपनी मेडिकल इंश्योरेंस पॉलिसी में अपने बुजुर्ग माता-पिता को जोड़ सकता हूँ?

नहीं, लेकिन आप हमारे सिल्वर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीद सकते हैं, जो वरिष्ठ नागरिकों के लिए बनाया गया एक विशेष हेल्थ इंश्योरेंस है।

 

 

   मेरे हेल्थ इंश्योरेंस की प्रीमियम राशि किन-किन चीजों पर निर्भर करती है

हेल्थ इंश्योरेंस की प्रीमियम राशि मुख्य रूप से सम इंश्योर्ड और हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के तहत कवर किए गए सदस्यों की संख्या पर निर्भर करती है। आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम को निर्धारित करने वाले कुछ अन्य कारक यहां दिए गए हैं :

✓     आपकी आयु

✓     पहले से मौजूद बीमारियाँ

✓     ऐड-ऑन कवर (वैकल्पिक)

   मैं भारत में हेल्थ इंश्योरेंस की लागत का अनुमान कैसे लगाऊं?

आप अपने हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए भुगतान करने वाली प्रीमियम का अनुमान प्राप्त करने के लिए हमारे हेल्थ इंश्योरेंस कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं। आप मुफ्त में हमारे हेल्थ इंश्योरेंस कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं और जेनेरेटेड क्वोट को आने वाले समय में रेफरेंस के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। 

   मैं अपने प्रीमियम का भुगतान किन तरीकों से कर सकता हूँ?

आप निम्नलिखित तरीकों का उपयोग करके अपने प्रीमियम का भुगतान कर सकते हैं:

✓     हमारे ब्रांच में चेक या नकद भुगतान करके

✓     ईसीएस के जरिए

✓     ऑनलाइन पेमेंट- डेबिट / क्रेडिट कार्ड और नेट बैंकिंग

   रिन्यूअल के दौरान किन परिस्थितियों में मेरी पॉलिसी प्रीमियम के बढ़ने की संभावना है?

निम्न परिस्थितियों में रिन्यूअल के दौरान आपका हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम बढ़ सकता है:

✓     एज बैंड में बदलाव करने पर

✓     रेगुलेटर द्वारा प्रीमियम रिविजन (जिसके बारे में आपको अपने हेल्थ इंश्योरेंस रिन्यूअल के बारे में अच्छी तरह से सूचित किया जाएगा)

✓     सरकारी कानूनों के अनुसार टैक्स, ड्यूटी और सेस मे बदलाव

   धूम्रपान हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम को कैसे प्रभावित करता है?

अगर आप धूम्रपान करते हैं तो आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए अधिक प्रीमियम देना पड़ सकता है। इसके अलावा, हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी से आपको कवरेज लेने से पहले आपको कुछ मेडिकल टेस्ट भी करवाने पड़ सकते हैं। 

   अगर मैं अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान करना भूल गया तो क्या होगा?

अपनी पॉलिसी एक्सपायर होने से पहले आपको अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान करना चाहिए, ताकि आपकी इंश्योरेंस पॉलिसी द्वारा प्रदान किए जाने वाले कवरेज की निरंतरता बनी रहे।  हालांकि, अगर आप पॉलिसी एक्सपायर होने से पहले अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान करने में असमर्थ हैं, तो आप अपनी इंश्योरेंस कंपनी द्वारा दिए गए ग्रेस पीरियड का उपयोग कर अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू कर सकते हैं।  लेकिन, अगर आप अपनी पॉलिसी को ग्रेस पीरियड में भी रिन्यू नहीं कराते हैं, तो आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लैप्स हो जाएगी और आप किसी मेडिकल इमरजेंसी के लिए कवर नहीं होंगे।

   जीएसटी क्या है और यह हेल्थ इंश्योरेंस पर कैसा असर डालता है?

जीएसटी गुड्स एंड सर्विस टैक्स है। इसे पहली बार 2017 में आरंभ किया गया था और इसमें सभी अप्रत्यक्ष कर जैसे कि सेवा कर, वैट आदि शामिल हैं। जीएसटी में चार टैक्स स्लैब हैं - 0%, 5%, 12% और 28% और, जीएसटी के दो प्रकार हैं - स्टेट जीएसटी और सेंट्रल जीएसटी।

जीएसटी से पहले, हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी पर लागू टैक्स की दर 15% थी और अब सभी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज पर 18% की दर लागू है।

   क्या मैं महीने में एक बार अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान कर सकता हूँ?

सभी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसीज में किश्त के आधार पर आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम के भुगतान को स्वीकार नहीं किया जाता है। हालांकि, आरोग्य संजीवनी जैसी पॉलिसीज के लिए आप अपनी सुविधा के अनुसार, किस्त के आधार पर हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान कर सकते हैं जैसे कि वार्षिक, अर्धवार्षिक, त्रैमासिक और मासिक।

 

 

   क्लेम सेटलमेंट रेशियो क्या है?

हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी का क्लेम सेटलमेंट रेशियो किसी निश्चित समय सीमा में किए गए क्लेम की कुल संख्या और एक हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी द्वारा निर्धारित क्लेम की संख्या के बीच का अनुपात है। क्लेम सेटलमेंट रेशियो की संख्या जितनी अधिक होगी, हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी उतनी ही बेहतर होगी। 

   मैं अपने हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम का स्टेटस कैसे जान सकता हूँ?

आप हमारे ऑनलाइन एप्लिकेशन सेटलमेंट पोर्टल का उपयोग करके और अपने कस्टमर केयर पर कॉल करके अपने मोबाइल ऐप का उपयोग करके अपने हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम की स्थिति को ट्रैक कर सकते हैं।.

   भारत में हेल्थ इंश्योरेंस के लिए क्लेम करते समय कौन-कौन सी प्रक्रियाएँ शामिल हैं?

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस के लिए क्लेम करते समय कौन-कौन सी प्रक्रियाएँ शामिल हैं?  बजाज आलियांज में, हमारे पास इन-हाउस हेल्थ और एड्मिनिसट्रेशन टीम (HAT) है, इसलिए यहाँ क्लेम प्रोसेसिंग काफी जल्दी और आसानी से हो जाती है। 

कैशलेस क्लेम के लिए आपको नेटवर्क अस्पताल से एक प्रि-ऑथराइजेशन लेटर प्राप्त करना होगा और हम आपके इस फॉर्म और आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को अच्छे से वेरिफाई करने के बाद आपके क्लेम को मंजूरी देंगे। नेटवर्क अस्पताल को स्वीकृति प्रदान करने के बाद आप कैशलेस क्लेम का लाभ उठा सकते हैं। 

रीइमबर्समेंट क्लेम सेटलमेंट के मामले में, आपको हमें अपने मेडिकल बिलों के साथ अपने पॉलिसी का विवरण और नॉन-नेटवर्क अस्पताल द्वारा प्रदान किए गए डिस्चार्ज समरी के दस्तावेज भेजने होंगे। हम इन दस्तावेजों को वेरिफाई करेंगे और फाइनल क्लेम एमाउंट को सीधे आपके बैंक खाते में जमा करके आपका क्लेम सेटल करेंगे। 

   हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम को प्रोसेस करने में कितना समय लगता है?

बजाज आलियांज में, हम अपने इन-हाउस हेल्थ एडमिनिस्ट्रेशन टीम (HAT) की मदद से फास्ट क्लेम प्रोसेसिंग के जरिए 60 मिनट के भीतर आपके कैशलेस क्लेम का सेटलमेंट करते हैं।

हम अपने Caringly Yours मोबाइल ऐप की हेल्थ CDC (क्लेम बाय डायरेक्ट क्लिक) फीचर की मदद से आपके 20,000 रूपये तक के क्लेम को 20 मिनट में सेटल कर देते हैं।

हम आपके द्वारा प्रस्तुत किए गए सभी दस्तावेजों को प्राप्त करने और उनका आकलन करने के बाद 10 दिनों के भीतर आपके रीइमबर्समेंट क्लेम को सेटल करते हैं। 

   मुझे कब क्लेम करना चाहिए?

आपको हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम केवल तभी करना चाहिए जब आपको लगता है कि मेडिकल खर्च बहुत ज्यादा है और आप अपनी जेब से उसका भुगतान नहीं कर सकते हैं। जब आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू करते हैं, तो इससे आपको NCB (नो क्लेम बोनस) का लाभ प्राप्त करने में मदद मिलेगी। 

    मैं एक वर्ष में ज्यादा से ज्यादा कितने क्लेम कर सकता हूँ?

आप किसी पॉलिसी वर्ष में, कितनी भी संख्या में एक वैध हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम कर सकते हैं। हालाँकि, आपके द्वारा क्लेम दायर जाने की संख्या, आपके सम इंश्योर्ड पर भी निर्भर करती है। 

   कैशलेस मेडिक्लेम क्या है?

जब आप नेटवर्क अस्पताल में अपनी बीमारी / चोट का इलाज कराते हैं, तो आप कैशलेस मेडिक्लेम के लिए पात्र होते हैं।  कैशलेस मेडिक्लेम के साथ, आपका जिस नेटवर्क अस्पताल में अपना इलाज करवा रहे हैं, वहाँ के मेडिकल बिल ऑटोमैटिक आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर द्वारा भुगतान कर दिये जाएंगे।   हालांकि, आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के अनुसार नॉन-मेडिकल चीजों और अन्य नॉन-पेएबल चीजों का खर्च खुद ही उठाना होगा। 

   अगर मैं कैशलेस इलाज के लिए क्लेम करना चाहता हूँ, तो मुझे किससे संपर्क करना होगा?

कैशलेस क्लेम का लाभ उठाने के लिए, आपको बस एक नेटवर्क अस्पताल से संपर्क करना होगा और अपना हेल्थ कार्ड दिखाना होगा, जिसमें आपकी पॉलिसी नंबर, इंश्योरेंस कंपनी का नाम और हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के प्रकार का विवरण शामिल होगा।  आपको एक प्रि-ऑथराइजेशन फॉर्म भी भरना होगा जो नेटवर्क अस्पताल द्वारा आपकी इंश्योरेंस कंपनी को भेजा जाएगा। इन दस्तावेजों के वेरिफिकेशन के बाद आपके इंश्योरर द्वारा, आपके क्लेम का भुगतान सीधे अस्पताल में कर दिया जाएगा। 

   जब एक क्लेम दायर किया जाता है तो कवरेज राशि का क्या होता है?

आपके क्लेम को दायर करने और उसके सेटलमेंट के बाद, आपके इंश्योरेंस कवर से भुगतान की गई राशि घट जाएगी। 

   अगर मैं कैशलेस सुविधा का लाभ उठाता हूँ, तो क्या आप पूरी राशि का भुगतान करेंगे या मुझे अस्पताल के बिल के कुछ हिस्से का भुगतान खुद करना होगा?

हाँ,  सबसे अच्छी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी आपको सभी मेडिकल खर्चों के लिए कवर करती है। हालांकि, आपको अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के अनुसार नॉन-मेडिकल चीजों और अन्य नॉन-पेएबल चीजों का खर्च खुद ही उठाना होगा।  

   क्लेम दायर करने और सेटलमेंट के बाद मेरी पॉलिसी का क्या होता है?

आपके क्लेम को दायर करने और उसके सेटलमेंट के बाद, आपके इंश्योरेंस कवर से भुगतान की गई राशि घट जाएगी। जैसे कि अगर आपकी पॉलिसी जनवरी में 5 लाख रु कवरेज के साथ जारी की गई थी और अगर आपने जुलाई में 3 लाख रु की राशि का क्लेम किया है, तो आपके लिए अगस्त-दिसंबर के बीच 2 लाख रु तक की राशि शेष बचेगी।

   अगर मैं पॉलिसी पीरियड के भीतर कोई भी क्लेम नहीं करता हूँ, तो क्या मुझे मेरे पैसे का रिफंड मिल सकता है?

अगर आप पॉलिसी वर्ष में हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम दायर नहीं करते हैं, तब भी आपको अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का रिफंड नहीं मिलेगा। लेकिन, आप NCB (नो क्लेम बोनस) के लिए पात्र होंगे, जिससे आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू करने पर आपकी प्रीमियम राशि कम हो जाएगी। इसके अलावा, आप संचयी बोनस के भी पात्र होंगे  जो आपको पिछले पॉलिसी वर्ष के समान प्रीमियम का भुगतान करके बढ़े हुए SI का लाभ लेने की सुविधा देता है।

   TPA क्या है?

TPA का अर्थ है - थर्ड पार्टी एडमिनिस्ट्रेटर। यह एक ऐसा संगठन है जो आपके हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर की ओर से क्लेम को प्रोसेस करता है। यह आपके हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम की प्रोसेसिंग और सेटलमेंट के लिए आपके और आपकी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी के बीच एक बिचौलिये का काम करता है।

   क्या मैं इलाज के दौरान अस्पताल बदल सकता हूँ?

हाँ, आप इलाज के दौरान अपना अस्पताल बदल सकते हैं। लेकिन, आपको अपने हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर को इसके बारे में बताना होगा और उनसे संबंधित दस्तावेज भी जमा करने होंगे। 

   मैं कितनी बार कॉन्वॉलसेंस बेनिफिट्स क्लेम सकता हूँ?

आप एक वर्ष में एक बार कॉन्वॉलसेंस बेनिफिट्स क्लेम कर सकते हैं।

   क्या मेरी पॉलिसी मेरे द्वारा चुने गए किसी भी अस्पताल में होने वाले मेडिकल इलाज को कवर करेगी?

हाँ,  आपकी मेडिकल पॉलिसी आपके द्वारा चुने गए किसी भी अस्पताल (नेटवर्क या नॉन-नेटवर्क अस्पताल) में होने वाले मेडिकल इलाज को कवर करेगी।  हालाँकि, कुछ ऐसे अस्पताल भी हो सकते हैं जो आपके इंश्योरेंस प्रोवाइडर की लिस्ट से हटा दिए गए हों और अगर आप जरूरी मेडिकल इलाज के लिए उनमें से एक अस्पताल में भर्ती होते हैं, तो इस मामले में आपको कवर नहीं किया जाएगा।

   क्या मुझे नॉन-नेटवर्क अस्पतालों में इलाज करवाने के मामले में रीइमबर्समेंट मिल सकता है?

हाँ, अगर आप एक नॉन-नेटवर्क अस्पताल में इलाज करवाते हैं, तो रीइमबर्समेंट क्लेम दायर करने के लिए आप अन्य जरूरी दस्तावेजों के साथ अपने मेडिकल बिल जमा कर सकते हैं।

   अगर मेडिकल खर्च मेरे कवर से ज्यादा हो जाता है, तो क्या मुझे ज्यादा होने वाले खर्च का भुगतान करना होगा?

हाँ, अगर वास्तविक खर्च आपके द्वारा कवर की गई राशि से ज्यादा हो जाता है, तो आपको अंतर राशि का भुगतान करना होगा।

   हेल्थ ऐडमिनिस्ट्रेशन टीम क्या है?

हेल्थ ऐडमिनिस्ट्रेशन टीम (HAT) में डॉक्टर और पैरामेडिक्स शामिल हैं जिनकी हेल्थ अंडरराइटिंग्स और क्लेम सेटलमेंट की जिम्मेदारी होती है।  यहाँ स्वास्थ्य से जुड़ी  हर तरह की सर्विस प्रदान की जाती है।  यह इन-हाउस टीम हेल्थ इंश्योरेंस कस्टमर्स से जुड़ी समस्याओं का समाधान करती है। यह टीम, एकमात्र संपर्क केंद्र के रूप में क्लेम को जल्द सेटल करती है।  यह हेल्थ इंश्योरेंस एक्सपर्ट द्वारा ग्राहकों के प्रश्नों और समस्याओं का तुरंत निवारण करती है। यह इन-हाउस कर्मचारियों की संख्या के आधार पर क्लेम सेटलमेंट और ग्राहक सेवा को भी नियंत्रित करती है।  

   हेल्थ इंश्योरेंस के क्लेम को किन कारणों से अस्वीकार कर दिया जाता है?

आपकी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी निम्नलिखित कारणों से आपके क्लेम का सेटलमेंट करने से इनकार कर सकती है:

✓     जानबूझकर खुद चोट पहुंचाने के बाद क्लेम करने पर

✓     गलत बयानी, धोखाधड़ी, आवश्यक तथ्यों को पेश न करना या बीमाधारक की तरफ से जरूरी मदद नहीं प्राप्त होने पर

✓     वेटिंग पीरियड समाप्त होने से पहले ही मौजदा बीमारियों के कवरेज के लिए क्लेम करने पर

✓     पॉलिसी दस्तावेज में उल्लिखित किसी भी ऐक्सक्लूज़न के लिए दायर किए गए क्लेम के मामले में

 

 

   क्या मेरी मौजूदा हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी, कोविड-19 के कारण होने वाले हॉस्पिटलाइजेशन खर्च कवर करेगी?

हाँ, आपकी पॉलिसी में वर्णित नियमों और शर्तों के अनुसार कोविड-19 के कारण होने वाले इन-पेशेंट हॉस्पिटलाइजेशन खर्च को आपकी मौजूदा हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में कवर किया जाएगा। 

   क्या मेरे परिवार के सदस्य कोविड-19 खर्च के लिए कवर किए जाएंगे?

अगर आपके परिवार के सदस्य आपकी मौजूदा हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में शामिल हैं, तो वे कोविड-19 से संबंधित पॉलिसी की शर्तों और नियमों के अनुसार हॉस्पिटलाइजेशन खर्च (इन पेशेंट हॉस्पिटलाइजेशन) के लिए कवर किए जाएंगे।

   मेरी पॉलिसी में कोविड-19 के लिए कौन-कौन से खर्च कवर नहीं किए जाएंगे?

आई आर डी ए आई द्वारा जारी नॉन-पेएबल की लिस्ट के साथ-साथ आपके पॉलिसी दस्तावेज में उल्लिखित सभी नॉन-पेएबल वस्तुओं को कोविड-19 कवरेज से बाहर रखा जाएगा।

   क्या कोविड-19 से जुड़े मेडिकल प्रैक्टिशनर की कंसल्टेशन और डायग्नोस्टिक टेस्ट मेरे हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के अंतर्गत कवर किए गए हैं?

अगर आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी आउट-पेशेंट हॉस्पिटलाइजेशन के लिए कवरेज प्रदान करती है, तो इन खर्चों को कवर किया जाता है। कृपया अपने इंश्योरर से संपर्क करें और अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के अंतर्गत आने वाले इन कवरेज पर पूरी जानकारी प्राप्त करें।

   क्या मेरी पुरानी विदेश यात्रा से पॉलिसी के क्लेम को स्वीकार करने पर कोई असर पड़ेगा?

नहीं, अगर आप भारत में अस्पताल में भर्ती हैं, तो आपकी पुरानी विदेश यात्रा से आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के क्लेम की स्वीकार्यता पर कोई असर नहीं होगा। 

   अस्पताल में भर्ती होने के बाद मैं अपना क्लेम कैसे दायर कर सकता हूँ?

बजाज आलियांज की निर्विघ्न क्लेम सेटलमेंट प्रक्रिया के साथ, यहाँ दिया गया है कि आप लाकडाउन के दौरान अपने हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम के लिए कैसे रजिस्टर और सेटल कर सकते हैं:

✓     हमारी कॅरिंगली युर्स  ऐप के साथ , आप हमारी कॅरिंगली युर्स  ऐप पर उपलब्ध पेपर लेस प्रक्रिया - हेल्थ सीडीसी (क्लेम बाय डायरेक्ट क्लिक) के द्वारा 20000 रुपयों तक के हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम को रजिस्टर कर सकते हैं।

✓     आप हमें +918080945060 पर एक मिस्ड काल डे सकते हैं और हम आपको प्रक्रिया समझाने के लिए फोन करेंगे।

✓     आप 575758 पर 'WORRY' एस एम एस कर सकते हैं।

✓     आप हमें   bagichelp@bajajallianz.co.in पर ई मेल भेज सकते हैं ताकि आपका क्लेम भी रजिस्टर हो जाए

✓     आपके क्लेम को ट्रैक और रजिस्टर करने का एक और तरीका है हमारे आन लाइन क्लेम पोर्टल पर जाना जहाँ आप बुनयादी विवरण दर्ज कर सकते हैं जैसे आपकी पॉलिसी नंबर और जल्दी एक क्लेम कर सकते हैं।

   क्या कोविड-19 से जुड़े क्लेम के मामले में किसी तरह का वेटिंग पीरियड लागू होता है?

हाँ, कोविड -19 हेल्थ इंश्योरेंस के लिए 30 दिनों का स्टैंडर्ड वेटिंग पीरियड लागू होता है। 

   क्या मैं अपना सम इंश्योर्ड बढ़ा सकता हूँ?

आप अपनी पॉलिसी के रिन्यूअल के दौरान अपने सम इंश्योर्ड को अंडरराइटिंग के नियमों और शर्तों के अनुसार बढ़ा सकते हैं।

 

Disclaimer

I hereby authorize Bajaj Allianz General Insurance Co. Ltd. to call me on the contact number made available by me on the website with a specific request to call back at a convenient time. I further declare that, irrespective of my contact number being registered on National Customer Preference Register (NCPR) under either Fully or Partially Blocked category, any call made or SMS sent in response to my request shall not be construed as an Unsolicited Commercial Communication even though the content of the call may be for the purposes of explaining various insurance products and services or solicitation and procurement of insurance business. Furthermore, I understand that these calls will be recorded & monitored for quality & training purposes, and may be made available to me if required.

Please enter valid quote reference ID

  • Select
    Please select
  • Please write your comment

Getting In Touch With Us Is Easy

  • Customer Login

    Go
  • Partner Login

    Go
  • Employee Login

    Go
सेल्स और सर्विस गाइड