रिस्पेक्ट सीनियर केयर राइडर: 9152007550 (मिस्ड कॉल)

सेल्स: 1800-209-0144| सर्विस: 1800-209-5858 सर्विस चैट: +91 75072 45858

अंग्रेजी

Claim Assistance
Get In Touch
Group Mediclaim Policy: Health Insurance for Employees
9 मार्च, 2023

कम्प्रीहेंसिव ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी: कर्मचारियों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस

कंपनियों के लिए आज के समय में प्रतिभाशाली कर्मचारियों को आकर्षित करने और कंपनी में बनाए रखने के लिए उन्हें कर्मचारी संबंधी लाभ देना बहुत महत्वपूर्ण हो गया है. हेल्थ इंश्योरेंस सबसे महत्वपूर्ण कर्मचारी लाभों में से एक है, जो बीमारी या चोट के कारण हुए हॉस्पिटलाइज़ेशन के मेडिकल खर्च को कवर करता है. ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी में भी यही लाभ मिलता है. आइए, ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी के बारे में विस्तार से जानें कि ये पॉलिसी भारत में कर्मचारियों और उनकी कंपनियों के लिए क्यों अहम हैं.

ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी क्या है?

ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी है, जो आमतौर पर किसी कंपनी के कर्मचारियों और कर्मचारियों के आश्रितों को कवरेज देती है. यह पॉलिसी इंश्योर्ड व्यक्तियों की बीमारी या चोट के कारण हुए हॉस्पिटलाइज़ेशन के मेडिकल खर्च को कवर करती है. यह पॉलिसी विभिन्न मेडिकल खर्च कवर करती है, जैसे हॉस्पिटलाइज़ेशन शुल्क, रूम रेंट, डॉक्टर की फीस और हॉस्पिटलाइज़ेशन से पहले व बाद के खर्चे. ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी को किफायती कीमत पर कर्मचारियों के लिए हेल्थ इंश्योरेंस  and their families at an affordable cost. The premium for the policy is usually lower than an व्यक्तिगत हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी, as the risk is spread across a larger group of individuals. The policy is usually renewed annually, and the premium is paid by the employer.

कर्मचारियों के लिए ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी क्यों महत्वपूर्ण है?

भारत में हेल्थ इंश्योरेंस कर्मचारी के लिए एक महत्वपूर्ण लाभ है, क्योंकि यह मेडिकल एमरजेंसी में कर्मचारियों और उनके परिजनों को फाइनेंशियल सुरक्षा देता है. मेडिकल एमरजेंसी कभी भी हो सकती है और हॉस्पिटलाइज़ेशन व मेडिकल उपचार बहुत महंगे हो सकते हैं. ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी होने से कर्मचारी मेडिकल खर्चों के फाइनेंशियल बोझ की चिंता से मुक्त होकर बीमारी या चोट से उबरने पर ध्यान दे पाते हैं. भारत में अच्छी क्वालिटी की हेल्थकेयर दिन-ब-दिन महंगी होती जा रही है. ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी यह सुनिश्चित करती है कि कर्मचारियों को लागत की चिंता के बिना अच्छी क्वालिटी की हेल्थकेयर मिले. यह पॉलिसी विभिन्न मेडिकल खर्च कवर करती है, जिसमें हॉस्पिटलाइज़ेशन से पहले और बाद के खर्च, डे-केयर प्रोसीज़र के खर्च और एंबुलेंस शुल्क आदि शामिल हैं. साथ ही, यह पॉलिसी महंगे मेडिकल उपचार की ज़रूरत वाले गंभीर रोगों, जैसे कैंसर, हृदय रोग और किडनी रोग के लिए भी कवरेज देती है. यही नहीं, कर्मचारी इस कवरेज में अपने आश्रितों को भी शामिल कर सकते हैं. यानी, उन्हें अलग से फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस प्लान्स  खरीदने की ज़रूरत नहीं है. हेल्थ इंश्योरेंस होने से कर्मचारियों को मन की शांति भी मिलती है, क्योंकि उन्हें पता होता है कि मेडिकल एमरजेंसी में उन्हें और उनके परिजनों को कवरेज मिलेगी. इससे कर्मचारियों में संतोष और उनका मनोबल बढ़ता है, जिससे आपके कर्मचारी-समूह की कार्यकुशलता बढ़ जाती है.

नियोक्ताओं के लिए ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी महत्वपूर्ण क्यों है?

ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी न केवल कर्मचारियों के लिए, बल्कि नियोक्ताओं के लिए भी महत्वपूर्ण है. यह पॉलिसी कर्मचारियों और उनके परिजनों को हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज देने का एक किफायती तरीका है. आमतौर पर इस पॉलिसी का प्रीमियम इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी से कम होता है, क्योंकि जोखिम व्यक्तियों के एक बड़े ग्रुप में बंटा होता है. इससे नियोक्ता के लिए हेल्थकेयर सस्ती हो जाती है, जिससे लागत में बचत होती है. साथ ही, कर्मचारियों को हेल्थ इंश्योरेंस देना प्रतिभाशाली कर्मचारियों को आकर्षित करने और कंपनी में बनाए रखने में भी प्रभावी होता है. आज के प्रतिस्पर्धी जॉब मार्केट में, कर्मचारी लाभ प्रतिभाशाली कर्मचारियों को आकर्षित करने और कंपनी में बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. हेल्थ इंश्योरेंस सहित कम्प्रीहेंसिव कर्मचारी लाभ का पैकेज देने से नियोक्ताओं को अन्य कंपनियों पर प्रतिस्पर्धी बढ़त मिल सकती है. ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी देने से नियोक्ता को टैक्स लाभ भी मिलते हैं. पॉलिसी के लिए चुकाया गया प्रीमियम इनकम टैक्स एक्ट, 1961 के सेक्शन 80डी के तहत बिज़नेस खर्च के रूप में टैक्स कटौती योग्य है. इससे नियोक्ता की टैक्स देयता घटती है.

ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी खरीदते समय नियोक्ताओं को किन बिंदुओं पर विचार करना चाहिए?

ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी चुनते समय, नियोक्ताओं को अपने कर्मचारियों और उनके परिजनों की ज़रूरतों को ध्यान में रखना चाहिए. पॉलिसी के तहत भारत में हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज में गंभीर बीमारियों और पहले से मौजूद बीमारियों सहित अन्य मेडिकल खर्चों के लिए व्यापक हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज होना चाहिए. नियोक्ताओं को पॉलिसी से जुड़े हॉस्पिटल और हेल्थकेयर प्रोवाइडर के नेटवर्क पर भी विचार करना चाहिए, ताकि उनके कर्मचारियों को अच्छी क्वालिटी की हेल्थकेयर सर्विस मिले. संक्षेप में, ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी किसी भी कंपनी के कर्मचारी के लाभ के पैकेज का एक ज़रूरी हिस्सा है, जो एक ओर कर्मचारियों और उनके परिजनों की खुशहाली सुनिश्चित करती है, तो वहीं दूसरी ओर नियोक्ता को लागत में बचत और टैक्स लाभ भी देती है.

संक्षेप में

अंत में, ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी कर्मचारियों के लिए एक ज़रूरी लाभ है, जो मेडिकल एमरजेंसी में कर्मचारियों और उनके परिजनों को फाइनेंशियल सुरक्षा देती है. यह पॉलिसी नियोक्ताओं के लिए अपने कर्मचारियों को हेल्थ इंश्योरेंस देने का, प्रतिभाशाली कर्मचारियों को आकर्षित करने व कंपनी में बनाए रखने का और अपनी टैक्स देयता घटाने का एक किफायती तरीका भी है. ग्रुप मेडिक्लेम पॉलिसी यह सुनिश्चित करती है कि कर्मचारियों को लागत की चिंता के बिना अच्छी क्वालिटी की हेल्थकेयर मिले. हेल्थ इंश्योरेंस युक्त कम्प्रीहेंसिव कर्मचारी लाभ का पैकेज देकर नियोक्ता प्रतिभाशाली कर्मचारियों को आकर्षित कर सकते हैं और कंपनी में बनाए रख सकते हैं, तथा कर्मचारियों में संतोष और उनका मनोबल बढ़ा सकते हैं, जिससे उनके कर्मचारियों के ग्रुप की कार्यकुशलता बढ़ेगी.   बीमा आग्रह की विषयवस्तु है. लाभों, शामिल न की गई चीज़ों, सीमाओं, नियम और शर्तों के बारे में अधिक जानकारी के लिए, कृपया इंश्योरेंस खरीदने से पहले सेल्स ब्रोशर/पॉलिसी डॉक्यूमेंट को ध्यान से पढ़ें.

क्या आपको इस आर्टिकल से मदद मिली? इसे रेटिंग दें

औसत रेटिंग 5 / 5 वोटों की संख्या: 18

अभी तक कोई वोट नहीं मिले! इस पोस्ट को सबसे पहली रेटिंग दें.

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया?? इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें!

अपने विचार शेयर करें. एक कमेंट लिखें!

कृपया अपना जवाब दें

आपकी ईमेल आईडी प्रकाशित नहीं की जाएगी. सभी फील्ड आवश्यक हैं