रिस्पेक्ट सीनियर केयर राइडर: 9152007550 (मिस्ड कॉल)

सेल्स: 1800-209-0144 सर्विस चैट: +91 75072 45858

अंग्रेजी

Claim Assistance
Get In Touch
mastering bike riding tips for teenagers
29 मार्च, 2023

बाइक राइडिंग के बारे में किशोरों के लिए उपयोगी सुझाव

अधिकांश किशोरों में बहुत अधिक जिज्ञासा देखी जाती है और वे खुद को बिजी रखने के अलग-अलग तरीके खोजते हैं. इसमें स्पोर्ट्स खेलना या लंबी राइड पर जाना जैसी चीजें शामिल हो सकती हैं. जब लंबी राइड की बात आती है, तो बाइक मुख्य रूप से परिवहन का एक लोकप्रिय तरीका होती हैं. ऐसे में, अगर आप पास किशोर हैं और लंबी राइड पर जाना चाहते हैं, तो ये कुछ टिप्स आपके काम आ सकते हैं. इन टिप्स के साथ, आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपको कोई परेशानी न हो.

बाइक चलाने वाले किशोरों के लिए टिप्स

ये कुछ टिप्स हैं, जो आप बाइक राइडिंग करने लेने वाले किशोरों को दे सकते हैं:
  1. लर्नर लाइसेंस साथ रखें

कानून के अनुसार, किशोर एक व्यक्ति है, जिसकी आयु 9 से 19 वर्ष के बीच होती है. अधिकांश किशोर 14 या 15 वर्ष की आयु तक बाइक चलाना शुरू करते हैं, लेकिन आरटीओ 16 वर्ष की आयु में लर्नर लाइसेंस जारी करता है. लर्नर लाइसेंस होना यह प्रमाण है कि व्यक्ति को कानूनी रूप से बाइक चलाने की अनुमति है. अगर आप किसी किशोर को अपनी बाइक देना चाहते हैं और लर्नर लाइसेंस नहीं है, तो यह आपके लिए चिंता का कारण हो सकता है. अगर पुलिस किशोर को पकड़ लेती और वे लर्नर लाइसेंस के बिना बाइक चलाते हुए पाए जाते हैं, तो आप पर ज़ुर्माना हो सकता है. ऐसी अप्रिय स्थितियों से बचने के लिए, बाइक चलाने से पहले उनके लिए लर्नर लाइसेंस के लिए अप्लाई करना बेहतर होगा.
  1. हेलमेट साथ रखें

अधिकांशतः टू-व्हीलर दुर्घटनाओं में पीड़ित बिना हेलमेट के अपनी बाइक चलाते हुए पाए जाते हैं. आपके परिवार के कम्प्रीहेंसिव हेल्थ कवरेज के लिए बाइक इंश्योरेंस पॉलिसी बाइक को होने वाले नुकसान को कवर करती है, लेकिन हेलमेट से अलग-अलग लाभ मिलते हैं. सबसे पहले, यह दुर्घटना में आपके सिर पर लगने वाली चोटों से आपको बचाता है. सिर पर लगी चोट गंभीर हो सकती है और इसके प्रभाव लंबे समय तक बने रहे सकते हैं. दूसरा, मोटर वाहन अधिनियम 1988 के तहत, बाइक चलाते समय हर समय हेलमेट पहनना आवश्यक है. हेलमेट के बिना बाइक चलाते हुए पाए जाने पर अधिकारी आपको या आपकी बाइक चलाने वाले व्यक्ति पर ज़ुर्माना लगा सकते हैं. *
  1. निर्धारित स्पीड लिमिट मेंटेंन रखें

चाहे अन्य राइडर हो या पैदल चलने वाले लोग, बाइक की ओवर-स्पीडिंग एक ऐसी समस्या है, जो अक्सर सड़क पर हर किसी के लिए खतरा पैदा करती है. जब कोई कानूनी रूप से निर्धारित लिमिट से अधिक स्पीड से ड्राइव करता है, तो न केवल वह अपनी सुरक्षा को खतरे में डालता है, बल्कि आसपास के लोगों के जीवन को भी खतरे में डालता है. बाइक सीखने वाले किशोरों में ओवर-स्पीडिंग भी एक समस्या है. शहर में सुरक्षित राइडिंग अनुभव के लिए, स्पीड को 30-40 केएमपीएच के अंदर रखें. शहर से बाहर के लिए आदर्श स्पीड लिमिट 60-70 केएमपीएच है.
  1. वयस्क की देखरेख में राइड करें

बाइक चलाते समय किशोरों से दुर्घटनाएं होने का एक सामान्य कारण यह है कि उन्हें वयस्क से मार्गदर्शन नहीं मिल पाता है. बाइक सीखना आसान है, लेकिन इसे ठीक से हैंडल करने में कुछ समय लगता है. गियर बदलना, क्लच को ठीक से रिलीज़ करना, या नियंत्रण के साथ तेज़ करना आदि, ऐसी चीजें हैं, जिनको सीखने में कुछ समय लगता है. किशोर किसी भी भ्रम की स्थिति में घबरा सकते हैं और ब्रेक लगाना भूल सकते हैं. जब किशोर बाइक चलाना सीख रहे हैं, तो वयस्क के रूप में आपकी ज़िम्मेदारी है कि उनकी देखरेख करें. जब उनको यह विश्वास हो जाए कि वे आपकी देखरेख के बिना बाइक चला सकते हैं, तो आप अपनी निगरानी के बिना उन्हें कम दूरी तक बाइक चलाने की अनुमति दे सकते हैं.

बाइक चलाने वाले किशोरों के लिए अतिरिक्त टिप्स

इन टिप्स के अलावा, किशोरों को इन अतिरिक्त टिप्स से मदद मिल सकती है:
  1. बाइक चलाते समय फोन के उपयोग से बचें. किशोरों में बाइक चलाते समय वीडियो रिकॉर्ड करने का एक ट्रेंड चला है. यह दुर्घटना की संभावनाओं को बढ़ाता है.
  2. बाइक चलाते समय स्टंट न करें. अगर बाइक क्षतिग्रस्त हो जाए, तो आप नुकसान की मरम्मत करने के लिए बाइक इंश्योरेंस क्लेम करें कर सकते हैं. बाइक चलाते समय सड़क सुरक्षा और नागरिक भावना सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है. *
  3. खासकर भीड़भाड़ वाली सड़कों पर वाहनों को ओवरटेक करने की कोशिश न करें. समय बचाने की कोशिश में बाइक राइडर वाहनों को ओवरटेक करने की कोशिश करते हैं. इससे दुर्घटना होने का जोखिम बढ़ जाता है और किसी को घातक चोट लग सकती है.

संक्षेप में

एक वयस्क के रूप में, यह महत्वपूर्ण है कि जब आप किसी किशोर को अपनी बाइक चलाने दें, तो उन्हें सड़क सुरक्षा और सभी नियमों की जानकारी दें. अगर आपका इंश्योरेंस समाप्त होने वाला है, तो यह आवश्यक है कि आप किशोर को बाइक देने से पहले बाइक इंश्योरेंस रिन्यू करें, कर लें. इंश्योरेंस एक महत्वपूर्ण पहलू भी है, जिसके बारे में आपको किशोरों को शिक्षित करना चाहिए. क्योंकि कानून के अनुसार, बाइक चलाते समय हर समय मान्य इंश्योरेंस पॉलिसी होनी चाहिए, इसलिए आप उन्हें इसके महत्व को समझा सकते हैं. अगर कोई किशोर पॉलिसी खरीदने से पहले सही कोटेशन की जानकारी पाना चाहे, तो आप उन्हें बता सकते हैं कि पॉलिसी लेने के लिए बाइक इंश्योरेंस कैलकुलेटर का कैसे इस्तेमाल करें. * मानक नियम व शर्तें लागू बीमा आग्रह की विषयवस्तु है. लाभों, शामिल न की गई चीज़ों, सीमाओं, नियम और शर्तों के बारे में अधिक जानकारी के लिए, कृपया इंश्योरेंस खरीदने से पहले सेल्स ब्रोशर/पॉलिसी डॉक्यूमेंट को ध्यान से पढ़ें.

क्या आपको इस आर्टिकल से मदद मिली? इसे रेटिंग दें

औसत रेटिंग 0 / 5 वोटों की संख्या: 0

अभी तक कोई वोट नहीं मिले! इस पोस्ट को सबसे पहली रेटिंग दें.

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया?? इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें!

अपने विचार शेयर करें. एक कमेंट लिखें!

कृपया अपना जवाब दें

आपकी ईमेल आईडी प्रकाशित नहीं की जाएगी. सभी फील्ड आवश्यक हैं