रिस्पेक्ट सीनियर केयर राइडर: 9152007550 (मिस्ड कॉल)

सेल्स: 1800-209-0144 सर्विस चैट: +91 75072 45858

अंग्रेजी

Claim Assistance
Get In Touch
Constructive Total Loss in Motor Insurance
23 जुलाई, 2020

जानें, मोटर इंश्योरेंस कंस्ट्रक्टिव टोटल लॉस क्या है

मोटर इंश्योरेंस क्लेम के लिए कैशलेस सुविधा होती है या रीइम्बर्स सुविधा होती है.

कैशलेस क्लेम तब किया जाता है, जब आप अपने डैमेज वाहन को नेटवर्क गैरेज़ में ले जाते हैं, डिडक्टिबल चुकाते हैं और चैन से बैठ जाते हैं, क्योंकि रिपेयरिंग या रिप्लेसमेंट की बाकी लागत का भुगतान आपकी जनरल इंश्योरेंस कंपनी करेगी. दूसरी ओर, रीइम्बर्समेंट मोटर इंश्योरेंस क्लेम वह प्रोसेस है, जिसमें आप अपने डैमेज वाहन की रिपेयरिंग के खर्चों का भुगतान करते हैं और अपनी इंश्योरेंस कंपनी को रिपेयरिंग का बिल सबमिट करते हैं, जो डिडक्टिबल काटकर आपको बाकी की राशि रीइम्बर्स कर देती है.

अब प्रश्न यह है कि इन दोनों कैटेगरी में से कंस्ट्रक्टिव टोटल लॉस किसके अंतर्गत आता है?

कभी-कभी किसी दुर्घटना से आपका वाहन बहुत ज़्यादा डैमेज हो जाता है. ऐसे मामलों में, आपके वाहन को हुए नुकसान की रिपेयरिंग करना संभव नहीं होता है और आपके द्वारा किए गए मोटर इंश्योरेंस क्लेम को कंस्ट्रक्टिव टोटल लॉस घोषित कर दिया जाता है.

मोटर इंश्योरेंस क्लेम फाइल करने के बाद, आपकी इंश्योरेंस कंपनी एक सर्वेयर अपॉइंट करती है, जो आपके वाहन को हुए डैमेज की जांच करते हैं. अगर सर्वेयर यह घोषित करते हैं कि वाहन की रिपेयरिंग की लागत आपके वाहन के आईडीवी (इंश्योर्ड डिक्लेयर्ड वैल्यू) के 75% से अधिक है, तो इसे सीटीएल (कंस्ट्रक्टिव टोटल लॉस) घोषित कर दिया जाता है.

आपके वाहन की रिपेयरिंग की लागत उसके आईडीवी या इंश्योरेंस लिमिट से तब अधिक हो जाती है, जब कोई गंभीर दुर्घटना होती है, जैसे आमने-सामने की टक्कर या पूरी तरह मलबे में बदल जाना. इस प्रकार, ऐसी स्थितियों में आपके मोटर इंश्योरेंस क्लेम को कंस्ट्रक्टिव टोटल लॉस की कैटेगरी में रखा जाता है.

जब मोटर इंश्योरेंस क्लेम सीटीएल घोषित किया जाता है, तो क्या होता है?

क्लेम कंस्ट्रक्टिव टोटल लॉस के रूप में रजिस्टर हो जाने के बाद, आपको अपना वाहन अपनी इंश्योरेंस कंपनी को सौंपना होता है, जिसके बाद बाइक का मालिकाना हक इंश्योरेंस कंपनी के पास चला जाता है.

आपकी इंश्योरेंस कंपनी आपकी पॉलिसी के अनुसार, अतिरिक्त (डिडक्टिबल) राशि घटाकर आपके वाहन के आईडीवी का भुगतान कर देती है. कृपया ध्यान दें कि क्लेम सेटलमेंट के बाद आपकी इंश्योरेंस पॉलिसी कैंसल हो जाती है. फाइनल सेटलमेंट मिलने के बाद आपको कैंसल हो चुकी इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए कोई प्रीमियम नहीं देना होता है.

टोटल लॉस और कंस्ट्रक्टिव टोटल लॉस में क्या अंतर है?

अगर आपका वाहन इस हद तक डैमेज हुआ है कि उसे नुकसान से पहले वाली हालत में नहीं लाया जा सकता है, तो उसे टोटल लॉस कहते हैं. अगर वाहन डैमेज हुआ है और उसकी रिपेयरिंग की जा सकती है, लेकिन रिपेयरिंग की लागत वाहन के आईडीवी के 75% से अधिक है, तो इसे कंस्ट्रक्टिव टोटल लॉस मानते हैं.

कंस्ट्रक्टिव टोटल लॉस के मामले में वाहन की रिपेयरिंग की लागत इतनी अधिक होती है कि उसकी रिपेयरिंग में पैसे खर्च करने की बजाए नया वाहन खरीदना सस्ता पड़ता है. जबकि, टोटल लॉस के मामले में, डैमेज वाहन की रिपेयरिंग होने की कोई संभावना नहीं होती है.

क्या आपको इस आर्टिकल से मदद मिली? इसे रेटिंग दें

औसत रेटिंग 4.2 / 5 वोटों की संख्या: 12

अभी तक कोई वोट नहीं मिले! इस पोस्ट को सबसे पहली रेटिंग दें.

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया?? इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें!

अपने विचार शेयर करें. एक कमेंट लिखें!

कृपया अपना जवाब दें

आपकी ईमेल आईडी प्रकाशित नहीं की जाएगी. सभी फील्ड आवश्यक हैं