रिस्पेक्ट सीनियर केयर राइडर: 9152007550 (मिस्ड कॉल)

सेल्स: 1800-209-0144 सर्विस चैट: +91 75072 45858

अंग्रेजी

Claim Assistance
Get In Touch
Insure vs Assure: Key Differences
4 फरवरी, 2023

इंश्योरेंस बनाम अश्योरेंस: मुख्य अंतर जानकर दोनों को बेहतर ढंग से समझें

कई लोग इंश्योरेंस एजेंट या ब्रोकर से इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना पसंद करते हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि इंश्योरेंस डॉक्यूमेंट में मुश्किल शब्दों की भरमार होती है जिसके चलते आम आदमी के लिए उन्हें फटाफट समझना मुश्किल हो जाता है. आपने किस प्रकार की पॉलिसी चुनी है इसके आधार पर, ‘इंश्योरेंस’ और ‘अश्योरेंस’ ये दो शब्द पॉलिसी में आम तौर पर पढ़ने को मिल सकते हैं. अगर आप जानना चाहते हैं कि वे एक-दूसरे से कैसे अलग हैं, तो अधिक जानकारी के लिए पढ़ना जारी रखें: इंश्योरेंस और अश्योरेंस ऐसे दो शब्द हैं जो लाइफ और जनरल इंश्योरेंस पॉलिसी में अक्सर एक ही अर्थ में इस्तेमाल होते हैं, पर असल में उनके अर्थ अलग-अलग हैं. हालांकि दोनों ही फाइनेंशियल नुकसान से किसी न किसी प्रकार की सुरक्षा देते हैं, पर उनके दायरे और उद्देश्य अलग-अलग होते हैं.

इंश्योरेंस का क्या अर्थ है?

इंश्योरेंस किसी व्यक्ति और इंश्योरेंस कंपनी के बीच एक अनुबंध है जो दुर्घटना, अस्वस्थता या प्रॉपर्टी को डैमेज जैसी अप्रत्याशित घटनाओं के लिए फाइनेंशियल भरपाई देता है. प्रीमियम के नियमित भुगतान के बदले इंश्योरेंस कंपनी पॉलिसीधारक को हुए किसी भी नुकसान की लागत को कवर करने पर सहमत होती है. इंश्योरेंस कंपनी आम तौर पर आर्थिक नुकसान की राशि के बराबर भरपाई करती है. साथ ही, इंश्योरेंस प्लान की एक तय वैधता यानी अवधि होती है जिसके दौरान कंपनी कवरेज देती है. *

आइए इसे एक उदाहरण से समझें:

श्री राजेश ने एक नई कार खरीदी. उसके रजिस्ट्रेशन के साथ-साथ कार इंश्योरेंस पॉलिसी की भी ज़रूरत आन पड़ी; कार इंश्योरेंस, जनरल इंश्योरेंस कवरेज का एक प्रकार है. वे बस थर्ड-पार्टी पॉलिसी खरीदना चाह रहे थे ताकि कानून का पालन सुनिश्चित हो जाए. पर डीलर ने उन्हें समझाया कि उनके वाहन को होने वाले डैमेज के विरुद्ध आर्थिक सुरक्षा के लिए थर्ड-पार्टी प्लान काफी नहीं है. डीलर की बात मानकर श्री राजेश ने कम्प्रीहेंसिव कार इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने का फैसला किया जो न्यूनतम आवश्यक थर्ड-पार्टी कवरेज के साथ-साथ ओन-डैमेज कवर भी देती है. इसी के साथ, पर्सनल एक्सीडेंट कवर चोटों और मृत्यु की फाइनेंशियल कवरेज सुनिश्चित करता है. कम्प्रीहेंसिव प्लान एक व्यापक इंश्योरेंस कवरेज है, इसलिए इनमें ऐड-ऑन जोड़कर कवरेज का दायरा बढ़ाने का विकल्प भी होता है. ‘इंश्योरेंस’ शब्द को समझाने के लिए कार इंश्योरेंस हालांकि एक उदाहरण है, पर कई अन्य प्रकार के इंश्योरेंस प्लान भी होते हैं, जैसे ट्रैवल इंश्योरेंस , प्रॉपर्टी इंश्योरेंस, क्रॉप इंश्योरेंस व और भी कई.

अश्योरेंस का क्या अर्थ है?

वहीं दूसरी ओर, अश्योरेंस एक प्रकार का इंश्योरेंस है जो किसी ऐसी घटना के विरुद्ध आर्थिक सुरक्षा देता है जिसका होना तय है, जैसे मृत्यु या अशक्तता. इंश्योरेंस के उलट, अश्योरेंस पॉलिसी की कोई समाप्ति तिथि नहीं होती, और अगर होती भी है तो बहुत दूर की. अश्योरेंस देने वाली इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए आम तौर पर कहीं लंबे समय तक नियमित भुगतान ज़रूरी होता है. पॉलिसीधारक या उनके आश्रित इंश्योरेंस कंपनी द्वारा चुकाए गए भुगतान के लाभार्थी होते हैं. *

आइए इसे एक उदाहरण से समझें:

श्री कमलेश ने खुद के लिए टर्म इंश्योरेंस प्लान खरीदा. टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी केवल पॉलिसीधारक की मृत्यु पर ही भुगतान देती है, यानी यह भुगतान, पॉलिसी की अवधि के दौरान उसके आश्रितों के लिए एक गारंटीशुदा भुगतान है. अन्य प्रकार के लाइफ इंश्योरेंस प्लान में एंडोमेंट पॉलिसी जैसे मेच्योरिटी लाभ भी होते हैं, जिनसे पॉलिसीधारक मेच्योरिटी आय का लाभ ले सकता है. अश्योरेंस वाली पॉलिसी का एक अन्य उदाहरण है क्रिटिकल इलनेस हेल्थ इंश्योरेंस प्लान जो कुछ तय रोगों की पहचान होने पर पॉलिसीधारक को भरपाई देता है. इंश्योरेंस और अश्योरेंस में अंतर को आप ऐसे भी समझ सकते हैं कि इंश्योरेंस, भविष्य में हो सकने की संभावना वाले जोखिमों के विरुद्ध आर्थिक सुरक्षा है, जबकि अश्योरेंस ऐसी घटनाओं के विरुद्ध आर्थिक सुरक्षा है जिनका होना तय है. यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि इंश्योरेंस और अश्योरेंस, इन दोनों शब्दों के अर्थ अलग-अलग देशों और अलग-अलग उद्योगों में अलग-अलग हो सकते हैं. जैसे, कुछ देशों में ये दोनों शब्द एक ही अर्थ में इस्तेमाल होते हैं, जबकि अन्य देशों में दोनों शब्द अलग-अलग प्रकार की पॉलिसी के लिए इस्तेमाल होते हैं. इसलिए, मिलने वाली कवरेज और लाभों को पूरी तरह समझने के लिए इंश्योरेंस या अश्योरेंस पॉलिसी के नियमों और शर्तों को ध्यान से पढ़ना ज़रूरी है.

इंश्योरेंस और अश्योरेंस में अंतर

जैसा ऊपर बताया गया है, इंश्योरेंस शब्द अधिकतर जनरल इंश्योरेंस पॉलिसी से जुड़ा होता है, जैसे हेल्थ इंश्योरेंस, ट्रैवल इंश्योरेंस, बाइक इंश्योरेंस या कार इंश्योरेंस, जबकि अश्योरेंस शब्द का उपयोग लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ किया जाता है. दोनों के अंतर नीचे टेबल में दिए गए हैं:

इंश्योरेंस

आश्वासन

उद्देश्य

इंश्योरेंस का उद्देश्य चोरी, दुर्घटना, आग, बाढ़ आदि नुकसान की भरपाई करना है. इसका उद्देश्य पॉलिसीधारक की मृत्यु जैसी किसी निश्चित घटना के होने पर आर्थिक मदद देना है.
   

क्लेम अमाउंट

इंश्योरेंस वाले प्लान में क्लेम की राशि, नुकसान के लगभग बराबर होती है. * अश्योरेंस वाले प्लान में क्लेम की राशि शुरुआत से ही तय रहती है. *
   

कितने क्लेम किए जा सकते हैं

पॉलिसी की शर्तों के आधार पर, इंश्योरेंस लाभ वाले प्लान पर कई क्लेम किए जा सकते हैं. * अश्योरेंस लाभ वाले प्लान पर केवल एक क्लेम हो सकता है. *
   

इंश्योर्ड कौन है?

इस प्रकार की पॉलिसी के तहत लोग और प्रॉपर्टी, दोनों इंश्योर्ड होते हैं.* अश्योरेंस लाभ वाली पॉलिसी के तहत केवल लोग इंश्योर्ड होते हैं. *
   

किस प्रकार के जोखिम कवर होते हैं

इंश्योरेंस लाभ वाले प्लान ऐसे जोखिम कवर करते हैं जो अनिश्चित और अप्रत्याशित होते हैं, जैसे दुर्घटना, चोरी और प्राकृतिक आपदाएं, आदि.* ये प्लान ऐसे जोखिम कवर करते हैं जिनका समय अनिश्चित है पर जिनका होना निश्चित है, जैसे किसी व्यक्ति की मृत्यु. *
   
  * मानक नियम व शर्तें लागू बीमा आग्रह की विषयवस्तु है. लाभों, शामिल न की गई चीज़ों, सीमाओं, नियम और शर्तों के बारे में अधिक जानकारी के लिए, कृपया इंश्योरेंस खरीदने से पहले सेल्स ब्रोशर/पॉलिसी डॉक्यूमेंट को ध्यान से पढ़ें.      

क्या आपको इस आर्टिकल से मदद मिली? इसे रेटिंग दें

औसत रेटिंग 4.2 / 5 वोटों की संख्या: 5

अभी तक कोई वोट नहीं मिले! इस पोस्ट को सबसे पहली रेटिंग दें.

क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया?? इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें!

अपने विचार शेयर करें. एक कमेंट लिखें!

कृपया अपना जवाब दें

आपकी ईमेल आईडी प्रकाशित नहीं की जाएगी. सभी फील्ड आवश्यक हैं